फीफा विश्वकप : कहीं जश्न तो कहीं आंसू

0

वर्ष 1998 के विजेता फ्रांस ने ‘फीफा विश्वकप 2018’ के फाइनल मुकाबले में क्रोएशिया पर 4-2 से जीत दर्ज कर दूसरी बार विश्वकप का खिताब अपने नाम किया| वहीं क्रोएशिया को उपविजेता बनकर संतोष करना पड़ा| फ्रांस की जीत में खिलाड़ियों के साथ-साथ टीम के कोच डिडिएर डेसचैम्प्स ने अहम योगदान दिया| वर्ष 1998 में जब फ्रांस ने विश्वकप जीता था, तब वे टीम के कप्तान थे और अब जब दूसरी बार फ्रांस ने खिताब को अपने नाम किया है तो वे टीम के कोच हैं|

विश्व विजेता ने मनाया जश्न

फीफा विश्वकप 2018 का विजेता बनने के बाद फ़्रांस के खिलाड़ी जश्न में डूब गए| फ़्रांस की जीत के बाद फुटबॉलप्रेमी सहित देश के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों खुशी से झूम उठे, वहीं क्रोएशियाई राष्ट्रपति कोलिंदा ग्राबर किटारोविक भावुक होकर रोने लगी| मैक्रों ने सभी खिलाड़ियों को गले लगकर बधाई दी| इस दौरान बारिश होती रही, लेकिन मैक्रों बारिश में भीगते रहे|

ऐसा रहा मुकाबला

फ्रांस के लिए पहला गोल क्रोएशिया के स्ट्राइकर मारियो मंड्जुकिच ने किया| मंड्जुकिच ने 18वें मिनट में एंटॉनी ग्रीजमान की फ्री किक पर गेंद को अपने गोल पोस्ट से दूर करने की कोशिश की, लेकिन गेंद उनके हेडर से अपने ही गोलपोस्ट में घुस गई और फ्रांस को 1-0 की बढ़त मिल गई| इसके 10 मिनट बाद 28वें मिनट में इवान परसिच ने गोल कर क्रोएशिया को बराबरी पर ला दिया|

क्रोएशिया इस बराबरी पर ज्यादा देर तक टिक नहीं सका और उसने फ्रांस को पेनल्टी दे दी| फ्रांस के स्टार खिलाड़ी ग्रीजमान ने पेनल्टी को आसानी के साथ गोल में तब्दील कर दिया| उनके गोल की मदद से फ्रांस 2-1 से आगे हो गया| दूसरे हाफ में फ्रांस के स्टार खिलाड़ी पॉल पोग्बा और एम्बाप्पे ने कमाल दिखाया| फ्रांस के लिए तीसरा गोल 59वें मिनट में पॉल पोग्बा ने किया| वहीं एम्बाप्पे ने 65वें मिनट में गोल किया| आत्मघाती गोल करने वाले क्रोएशिया स्ट्राइकर मारियो मंड्जुकिच ने 69वें मिनट में अपनी टीम के लिए गोल किया| इसके बाद दोनों टीमें गोल नहीं कर सकी और फ्रांस ने 4-2 से विश्वकप जीत लिया|

Share.