अंतिम समय में क्रोएशिया ने जीता मुक़ाबला

0

‘फीफा विश्वकप 2018’ के दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले में क्रोएशिया ने इंग्लैंड पर जीत दर्ज कर पहली बार फाइनल में जगह बनाई है| दोनों टीमों के बीच यह मुकाबला रोमांचक रहा| क्रोएशिया ने एक्स्ट्रा टाइम में गोल दागकर इस मुकाबले को अपने नाम किया| अब रविवार को ‘फीफा विश्वकप 2018’ के खिताब के लिए क्रोएशिया की टक्कर फ़्रांस से होगी| 90 मिनट का खेल ख़त्म होने तक दोनों टीमों का स्कोर 1-1 से बराबर था, लेकिन एक्स्ट्रा टाइम में क्रोएशिया के मारियो मैंडजुकी ने गोल दागकर टीम को जीत दिला दी| यह पहला मौका है, जब क्रोएशिया फाइनल में जगह बनाने में कामयाब हो पाई है| इससे पहले क्रोएशियाई टीम वर्ष 1998 में सेमीफाइनल तक पहुंची थी|

ऐसा रहा मुकाबला

मुकाबले के शुरुआत में ही  इंग्लैंड ने गोल दागकर बढ़त बना ली थी| मुकाबले के 5वें मिनट में किरेन ट्रिपियर ने गोल कर अपनी टीम को बढ़त दिला दी| ट्रिपिएर विश्वकप के किसी सेमीफाइनल में गोल करने वाले इंग्लैंड के तीसरे खिलाड़ी हैं| इससे पहले इंग्लैंड की ओर से गैरी लिनेकर और बॉबी चॉर्लटन सेमीफाइनल में गोल दाग चुके हैं| किरेन ट्रिपिएर 1966 के बाद से विश्वकप में डायरेक्ट फ्री किक से गोल करने वाले इंग्लैंड के दूसरे खिलाड़ी हैं|

क्रोएशिया ने पहले हाफ में इंग्लैंड की बराबरी करने की बहुत कोशिश की, लेकिन टीम गोल दागने में कामयाब नहीं हो पाई| दूसरे हाफ की शुरुआत क्रोएशिया ने शानदार अंदाज़ में की| टीम ने 68वें मिनट में गोल दागकर इंग्लैंड की बराबरी की| क्रोएशिया की ओर से इवान पेरिसिक ने गोल दागा| 90 मिनट का खेल खत्म होने के बाद 30 मिनट का एक्स्ट्रा टाइम जोड़ा गया और इस एक्स्ट्रा टाइम में क्रोएशिया के मारियो मैंडजुकी ने गोल कर अपनी टीम को बढ़त दिलाई| इसके बाद बचे हुए समय में कोई भी टीम गोल नहीं दाग पाई और क्रोएशिया ने फाइनल में जगह बना ली|

इंग्लैंड के कप्तान हैरी केन ने इस विश्वकप में अब तक 6 गोल दागे हैं, लेकिन सेमीफाइनल मुकाबले में वे गोल दागने में कामयाब नहीं हो पाए| मुकाबले के 30वें मिनट में इंग्लैंड के पास 2-0 से बढ़त बनाकर क्रोएशिया पर दवाब डालने का अच्छा मौका था, लेकिन कप्तान गोल करने से चूक गए|

Share.