क्रिकेटर नहीं बनना चाहते थे उमेश यादव!

0

भारतीय टीम के तेज गेंदबाज उमेश यादव इस समय अपने करियर के सबसे बेहतरीन दौर में हैं| अपनी धारदार गेंदों से उन्होंने कई खिलाड़ियों की गिल्ली उड़ाई है| आज यानी 25 अक्टूबर को उमेश यादव अपना 31वां जन्मदिन मना रहे हैं| अपने करियर के दौरान उन्होंने कई सारे रिकॉर्ड कायम किए हैं| यह साल उमेश के लिए खास उपलब्धियों भरा रहा| इस वर्ष वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ के एक मैच में उमेश ने 10 विकेट लेने का कारनामा किया था| कप्तान कोहली उन पर काफी भरोसा करते हैं| लेट स्विंग कराने में उन्हें महारथ हासिल है|

उमेश तीसरे ऐसे गेंदबाज हैं, जिन्होंने भारत में ही दस विकेट लिए हैं| उनसे पहले कपिल देव ने दो बार यह कारनामा किया था| उमेश आठवें भारतीय तेज़ गेंदबाज हैं, जिन्होंने टेस्ट में 10 विकेट लेने की उपलब्धि हासिल की है|

उमेश यादव के जीवन में कई उतार-चढ़ाव आए, लेकिन उन्होंने इन्हें अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया और निरंतर अपना करियर बनाने की कोशिश करते रहे| उनका पूरा नाम उमेश कुमार तिलक यादव है| नागपुर में जन्मे उमेश घरेलू क्रिकेट में विदर्भ की ओर से खेलते थे| वे क्रिकेटर नहीं बल्कि पुलिस या आर्मी में जाना चाहते थे, लेकिन उनकी कोशिशें सफल नहीं हुईं|

उमेश ने वर्ष 2008 में रणजी से अपना करियर शुरू किया और अपने शानदार प्रदर्शन से सभी को प्रभावित किया| वर्ष 2010 में उन्होंने भारतीय टीम के लिए जिम्बाब्वे के खिलाफ अपना पहला वन  मैच खेला| वर्ष 2011 में उमेश यादव ने वेस्टइंडीज के खिलाफ ही पहला टेस्ट खेला था|

उमेश ने अब तक 40 मैचों की 78 पारियों में 32.85 के औसत और 3.58 की इकोनॉमी के साथ कुल 117 विकेट लिए हैं| वे 5 बार 4 विकेट, दो बार पांच विकेट और एक बार मैच में 10 विकेट लेने का कारनामा कर चुके हैं| इसके अलावा वे 75 वनडे मैचों की 73 पारियों में 6.01 की इकोनॉमी और 33.63 की औसत से 106 विकेट ले चुके हैं| 4 बार वे एक पारी में 4 विकेट भी ले चुके हैं|

Share.