भारत के पूर्व ओपनर का निधन, गम में डूबा क्रिकेट जगत

0

दिल का दौरा पड़ने भारत के महान खिलाडियों में से एक रहे माधव आप्टे (Madhav Apte) ने इस दुनिया से अलविदा कह दिया| आज यानी सोमवार को उनके निधन के बाद क्रिकेट जगत गम में डूब गया| आप्टे के बेटे वामन आप्टे ने बताया कि, सुबह छह बजकर नौ मिनट पर ‘ब्रीच कैंडी अस्पताल’ में आखिरी सांस ली| वे भारतीय टीम में एक सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभाते थे|

इतिहास नहीं रच पाई टीम इंडिया, हार के बाद बोले कोहली

माधव आप्टे (Madhav Apte) ने अपने करियर में सात टेस्ट मैच खेले और 542 रन बनाए, जिसमें केवल एक शतक शामिल है| उनका सर्वाधिक स्कोर 163 रन था, जो उन्होंने साल 1953 में वेस्टइंडीज के खिलाफ बनाया था| इसके अलावा प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उन्होंने 67 मैचों में 3336 रन बनाए हैं|

भारतीय टीम के खिलाड़ी युसूफ पठान ने भी आप्टे के निधन शोक जताया है, उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर लिखा, वह भारत और मुंबई के एक बेहतरीन क्रिकेटर थे| वहीं टीम इंडिया (Team India) के पूर्व खिलाड़ी विनोद कांबली ने भी आप्टे के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए लिखा, “माधव आप्टे सर के निधन के बारे में सुना, मैंने उन्हें बचपन से देखा था और उनसे सलाह लेता रहता था| वे हमेशा मेरा उत्साह बढ़ाते थे और अच्छा करने के लिए प्रेरित करते थे (Madhav Apte)| मुझे और मेरे पापा दोनों को ही उनके साथ क्रिकेट खेलने का सौभाग्य मिला| आपकी आत्मा को शांति मिले सर|”

क्यों हारी भारतीय टीम, सामने आए 3 बड़े कारण

माधव आप्टे  (Madhav Apte) ने नवंबर 1952 में पाकिस्तान के खिलाफ क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया में टेस्ट पदार्पण किया और अपना अंतिम टेस्ट अप्रैल 1953 को किंग्सटन में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला| उन्होंने अपने पदार्पण टेस्ट में 30 और नाबाद 10 रन की पारियां खेली| वह किसी टेस्ट सीरीज में 400 से अधिक रन बनाने वाले पहले भारतीय सलामी बल्लेबाज थे (Cricket News)| वे बीसीसीआई के अध्यक्ष भी रह चुके हैं|

Ind vs SA 3rd T-20 : नया वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाएंगे रोहित शर्मा

-Hriday Kumar

Share.