मैच फिक्सिंग मामले में घिरा टीम इंडिया का ये बड़ा खिलाड़ी

0

भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज़ अभिमन्यु मिथुन (Fast bowler Abhimanyu Mithun) से कर्नाटक प्रीमियर लीग (Karnataka Premier League) में सट्टेबाजी और स्पॉट फिक्सिंग (Betting and Spot Fixing) को लेकर पूछताछ की जाएगी। मिथुन पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर हैं जिससे इस मामले की जांच कर रही केंद्रीय क्राइम ब्रांच के अधिकारी सवाल-जवाब करेंगे। मिथुन केपीएल में शिवमोगा लायंस के कप्तान है। जॉइंट कमिश्नर ऑफ पुलिस (क्राइम) संदीप पाटिल ने कहा, ‘, हमने मिथुन को पूछताछ के लिए सीसीबी के सामने पेश होने को कहा है।’चूंकि मिथुन ने भारत के लिए टेस्ट और वनडे इंटरनैशनल खेले हैं। सीसीबी ने इस पूरे मामले में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को भी जानकारी में रखा है।

वेस्टइंडीज के खिलाफ कैसा होगा भारत का बल्लेबाजी क्रम?

अभिमन्यु मिथुन ने भारत के लिए चार टेस्ट मैच और पांच वनडे अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले हैं। बेंगलुरु पुलिस (Bengaluru Police) के अनुसार मिथुन अभी सूरत में ही हैं और टी20 खेल रहे हैं। सीसीबी ने केपीएल में सट्टेबाजी को लेकर अभी तक 8 लोगों को गिरफ्तार किया है। इसमें बेलागवी पैंथर्स के मालिक अली अशफाक थारा भी शामिल था। कर्नाटक हाई कोर्ट ने बुधवार को थारा की जमानत याचिका खारिज कर दी।केपीएल में अभिमन्यु मिथुन पहले मलंड ग्लेडिएटर के लिए खेले थे। इसके बाद वह बीजापुर बिल्स के लिए खेले और फिर आखिर में पिछले सीजन में वह शिवमोगा लायंस के लिए खेले।

भारत के खिलाफ वेस्टइंडीज की दमदार टीम घोषित

पिछले हफ्ते सीसीबी ने कर्नाटक स्टेट क्रिकेट असोसिएशन (Karnataka State Cricket Association) और केपीएल टीम मैनेजर्स को एक नोटिस जारी किया था और साथ ही केपीएल मैचों को लेकर एक प्रश्न-पत्र भी भेजा था। कुछ केपीएल खिलाड़ियों ने सट्टेबाजों की बात मानने से इनकार कर दिया तो उन्हें हनी-ट्रैप में फंसाया गया। अभी तक मिथुन की तरफ से इसपर कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। फिलहाल वह सूरत में सैयद मुश्ताक अली ट्रोफी (Syed Mushtaq Ali Trophy) में कर्नाटक की ओर से खेल रहे हैं।

बर्बाद हो सकता है शिखर धवन का करियर, जानें कारण

-Mradul tripathi

Share.