सबसे सफल कप्तान बनने के बाद कोहली का बयान

0

भारतीय टीम का वेस्टइंडीज दौरा शानदार जीत के साथ समाप्त हो गया है| जमैका में खेली गई दो मैचों की सीरीज के अंतिम मुकाबले में भारतीय टीम ने 257 रनों से बड़ी जीत दर्ज की| टीम इंडिया की जीत में युवा बल्लेबाज हनुमा विहारी के शतक और जसप्रीत बुमराह की हैट्रिक ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई| पहली पारी में हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) ने 111 रनों की शानदार पारी खेली,  वहीं दूसरी पारी में भी उन्होंने अर्धशतक जड़ा (Virat Kohli Reveals Captaincy Mantra)| जिसके लिए उन्हें ‘मैन ऑफ द मैच’ भी चुना गया|

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पहली बार ऐसा हुआ जब एक पारी में 12 बल्लेबाज़ों ने बल्लेबाज़ी की

वहीं जसप्रीत बुमराह (Jaspreet Bumrah) ने पहली पारी में 6 विकेट चटकाए, जबकि दूसरी पारी में वह 1 विकेट लेने में कामयाब हो पाए| इस मुकाबले की पहली पारी में उन्होंने हैट्रिक भी जमाई|

11 मैचों में ही पंत ने तोड़ा धोनी का रिकॉर्ड….

कोहली बने सबसे सफल कप्तान

विराट कोहली 28 टेस्ट जीतों के साथ एमएस धोनी के 27 जीत को पीछे छोड़ते हुए भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान बन गए हैं| अपने इस कप्तानी के रिकॉर्ड पर कोहली ने कहा कि ये एक बेहतरीन टीम और गेंदबाजों द्वारा हासिल की गई उपलब्धि है| मैच के बाद उन्होंने कहा, “ईमानदारी से कहूं तो कप्तानी आपके नाम के आगे केवल एक ‘सी’ है| ये सामूहिक प्रयास है जो मायने रखता है|”

उन्होंने आगे कहा, “हमारे पास जो एक बेहतरीन टीम है ये उसके द्वारा हासिल की गई उपलब्धि है| यदि हमारे पास जो गेंदबाज हैं, वे न होते, तो मुझे नहीं लगता कि ये परिणाम संभव होता| हां आप जितने चाहे उतने रन बना सकते हैं, लेकिन जब आप देखते हैं कि ये खिलाड़ी अपनी जी-जान लगा रहे हैं…मेरा मतलब है शमी का आज का स्पैल, बुमराह को हल्की सी चोट, इशांत का पूरी मेहनत से गेंदबाजी करना, जडेजा का एक लंबा स्पैल करना…मुझे नहीं लगता कि इन गेंदबाजों के बिना ये संभव होता| इसलिए मुझे लगता है कि पूरा श्रेय पूरी टीम को जाता है|”

विराट जीत के करीब टीम, कोहली बना गए ये शर्मनाक रिकॉर्ड

भारत के लिए सर्वाधिक टेस्ट जीतने वाले कप्तान

विराट कोहली-28 जीत
एमएस धोनी-27 जीत
सौरव गांगुली-21 जीत
मोहम्मद अजहरुद्दीन-14

कैसा रहा मुकाबला

इस भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पहली पारी में 416 रनों का बड़ा स्कोर बना दिया, जिसके जवाब में वेस्टइंडीज की टीम महज 117 रनों पर ऑल आउट हो गई और भारतीय टीम को 299 रनों की बड़ी लीड हासिल हुई| भारतीय टीम ने अपनी दूसरी पारी में 168 रन बनाए और वेस्टइंडीज को जीत के लिए 467 रनों का लक्ष्य दिया| लक्ष्य का पीछा करते हुए वेस्टइंडीज टीम चौथे दिन 210 रनों पर ऑल आउट हो गई और टीम इंडिया ने इस मुकाबले को 257 रनों से अपने नाम कर लिया| इसी के साथ भारतीय टीम ने 2-0 से टेस्ट सीरीज को क्लीन स्वीप किया|

-ह्रदय कुमार

Share.