पेनल्टी शूटआउट से हुआ दोनों मैचों का फैसला

0

विश्वकप 2018 इस समय रोमांच की चरम सीमा पर पहुंच गया है| रविवार को खेले गए दोनों मुकाबले रोमांच से भरपूर रहे| दिन का पहला मुकाबला रुस और स्पेन के बीच हुआ, जिसमें रुस ने जीत दर्ज कर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई| वहीं दूसरा मुकाबला क्रोएशिया और डेनमार्क के बीच खेला गया, जिसमें पेनल्टी शूटआउट की मदद से क्रोएशिया ने जीत दर्ज की| इस विश्वकप में सबसे हैरत की बात यह रही कि फिसड्डी मेजबान टीम रुस बड़ी-बड़ी टीमों को टक्कर दे रही है| विश्वकप से पहले रुस ने पिछले 7 मैचों में एक भी जीत दर्ज नहीं की थी| रुस फीफा वर्ल्ड रैकिंग में 70वें पायदान पर काबिज़ है|

क्वार्टर फाइनल में रुस

मेजबान  रुस ने 48 वर्ष बाद क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर सभी को हैरान कर दिया है| प्री-क्वार्टर फाइनल मुकाबले में स्पेन को पेनल्टी शूटआउट में 4-3 से हराकर उसने टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया| निर्धारित समय तक स्कोर 1-1 रहने के बाद मैच पेनल्टी शूटआउट में चला गया, जहां रुस ने 4-3 से बाजी मारी| पेनल्टी शूटआउट में रुस के चारों खिलाड़ियों ने गोल किए, जबकि स्पेन के लिए दो खिलाड़ी गोल करने से चूक गए| रुस की इस जीत के नायक उसके गोलकीपर इगोर अकिनफीव रहे, जिन्होंने मैच के दौरान कई शानदार बचाव किए और फिर पेनल्टी शूटआउट में भी दो बचाव करके दर्शकों को जश्न में डुबो दिया|

क्रोएशिया ने मारी बाज़ी

क्रोएशिया और डेनमार्क के बीच खेला गया यह प्री-क्वार्टर फाइनल मुकाबला भी 90 मिनट के निर्धरित समय तक 1-1 से बराबर रहा, जिसके बाद पेनल्टी शूटआउट में क्रोएशिया ने 3-2 से बाज़ी मारकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई| अब 7 जुलाई को क्वार्टर फाइनल में क्रोएशिया की टक्कर मेजबान रुस से होगी| यह मैच दोनों ही टीमों के गोलकीपरों के नाम रहा| जहां एक ओर क्रोएशिया के डेनिजेल सुबासिक ने पेनल्टी शूटआउट सहित मैच के दौरान भी कुछ अहम बचाव किए| वहीं, डेनमार्क के गोलकीपर कैस्पर शेईमेकेल ने भी अपने खेल से फैंस का दिल जीता|

Share.