छठा स्वर्ण जीतने के बाद रोईं मैरीकॉम

0

भारत की स्टार महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम  ने शनिवार को दिल्ली के केडी जाधव स्टेडियम में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया| मैरीकॉम ने छठी बार स्वर्ण पदक हासिल किया है| 35 वर्षीय मैरीकॉम  ने 48 किलोग्राम वर्ग के फाइनल मुकाबले में यूक्रेन की हैना अखोटा को 5-0  से हराकर इस खिताब को अपने नाम किया| मैरीकॉम ने सेमीफाइनल में नॉर्थ कोरिया की ओलंपिक ब्रॉन्ज मेडल विजेता किम हयांग मि पर एकतरफ़ा जीत दर्ज कर फाइनल में जगह बनाई थी| उन्होंने नॉर्थ कोरिया को 5-0 से हराया था|

जीत के बाद मैरीकॉम भावुक हो गईं| विजेता घोषित करने के बाद  वो फूट-फूट कर रोईं| उन्होंने प्रशंसकों को  धन्यवाद दिया| वह अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पाईं|  मैरीकॉम ने इससे पहले वर्ष 2002, 2005, 2006, 2008 और 2010 में वर्ल्ड खिताब पर कब्जा जमाया था| इसके अलावा उन्होंने 2001 में अपने पहले वर्ल्ड चैम्पियनशिप में रजत पदक पर कब्जा जमाया था|

हैना अखोटा के खिलाफ फाइनल मुकाबले में मैरी ने शानदार खेल दिखाते हुए यूक्रेनी मुक्केबाज को कोई मौका नहीं दिया| मैच की शुरुआत में ही मैरीकॉम ने अपनी पकड़ मजबूत कर ली थी| मैरीकॉम का यह छठा विश्व चैम्पियनशिप खिताब है| इस गोल्ड के साथ उन्होंने विश्व चैम्पियनशिप का आठवां पदक अपने नाम किया|

विश्वकप में मैरीकॉम के अब तक 6 गोल्ड

2001 (पेनसिल्वेनिया) : सिल्वर
2002 (तुर्की) : गोल्ड
2005 (रूस) : गोल्ड
2006 (दिल्ली) : गोल्ड
2008 (चीन) : गोल्ड
2010 (बारबाडोस) : गोल्ड

2018 (दिल्ली) : गोल्ड

Share.