website counter widget

जीवन में उतारें महात्मा गांधी के ये विचार

0

मैं हिंदी के जरिए क्षेत्रीय भाषाओं को दबाना नहीं चाहता बल्कि उनके साथ हिंदी को भी मिला देना चाहता हूं।

प्रार्थना या भजन जीभ से नहीं बल्कि हृदय से होता है इससे गूंगे व तोतले भी प्रार्थना कर सकते है।

भविष्य में क्या होगा, मै यह नहीं सोचना चाहता। मुझे तो वर्तमान की चिंता है। ईश्वर ने मुझे आने वाले क्षणों पर कोई नियंत्रण नहीं दिया है।

अपने ज्ञान को लेकर बेहद निश्चित होना बुद्धिमानी नहीं है। यह याद रखना चाहिए कि ताकतवर भी कमजोर हो सकता है, और बुद्धिमान से भी गलती कर सकता है।

हो सकता है आप यह नहीं जान पाए कि आपके काम का क्या परिणाम हुआ, लेकिन यह कुछ नहीं करने से तो बेहतर है।

आप मुझे जंजीरों में जकड़ सकते हैं, और यातना दे सकते हैं। परन्तु आप कभी मेरे विचारों को कैद नहीं कर सकते।

आप उस समय तक यह नहीं समझ पाते कि आपके लिए कौन महत्त्वपूर्ण है जब तक आप उन्हें वास्तव में खो नहीं देते।

एक देश की महानता और नैतिक विकास को इस मापदंड पर आंका जाता है कि वहां जानवरों से कैसे व्यवहार किया जाता है।

आप मानवता में विश्वास मत खोएं। मानवता समुद्र की तरह है अगर समुद्र की कुछ बूंदे गन्दी है तो इससे समुद्र गन्दा नहीं हो जाता।

यह धरती सभी मनुष्यों की ज़रुरत पूरी करने के लिए पर्याप्त संसाधन प्रदान करती है लेकिन लालच पूरा करने के लिए नहीं।

गौतम बुद्ध के अनमोल विचार

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.