सफलता के 15 मूल मंत्र

0

दूर से हमें आगे के सभी रास्ते बंद नजर आते हैं क्योंकि सफलता के रास्ते हमारे लिए तभी खुलते हैं जब हम उसके बिलकुल करीब पहुंच जाते हैं।

मुसीबतों से भागना, नई मुसीबतों को निमंत्रण देने के समान है। जीवन में समय-समय पर चुनौतियों और मुसीबतों का सामना करना पड़ता है और यही जीवन का सत्य है। एक शांत समुन्द्र में नाविक कभी भी कुशल नहीं बन पाता।

जब तुम पैदा हुए थे तो तुम रोए थे जबकि पूरी दुनिया ने जश्न मनाया था। अपना जीवन ऐसे जियो कि तुम्हारी मौत पर पूरी दुनिया रोए और तुम जश्न मनाओ।

हीरे को परखना है तो अँधेरे का इंतजार करो, धूप में तो कांच के टुकड़े भी चमकने लगते हैं।

जब तक आप अपनी समस्याओं और कठिनाईयों की वजह दूसरों को मानते हैं, तब तक आप अपनी समस्याओं और कठिनाईयों को मिटा नहीं सकते।

अगर सफलता पानी है दोस्त, तो कभी वक्त और हालात पे रोना नहीं, मंजिल दूर ही सही पर घबराना मत दोस्तों क्योंकि नदी कभी नहीं पूछती कि समंदर अभी कितना दूर है।

असफलता मुझे तब तक नहीं मिल सकती जब तक मेरी सफलता पाने की इच्छा मजबूत है।

भीड़ हमेशा उस रस्ते पर चलती है जो रास्ता आसन लगता है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं की भीड़ हमेशा सही रस्ते पर चलती है। अपने रास्ते खुद चुनिए क्योंकि आपको आपसे बेहतर और कोई नहीं जानता।

पानी की बूंद जब समंदर में होती है तब उसका कोई अस्तित्व नहीं होता, लेकिन जब बूंद पत्ते पर होती है तो मोती की तरह चमकती है, आपको भी जीवन में ऐसा मुकाम हासिल करना है जहाँ मोती की तरह चमको क्योंकि भीड़ में पहचान दब जाती है।

मेरा सचमुच ये मानना है कि जिस चीज को आप चाहते हैं उसमें असफल होना जिस चीज को आप नहीं चाहते उसमें सफल होने से बेहतर है।

Jeewan Mantra : अनमोल मंत्र

Share.