सोच बदलने से भी आता है जीवन में बदलाव

0

कई बार हम चीजों को उनके बाहरी आवरण से देखते हैं, जबकि उसके पीछे के पहलू कुछ और ही होते हैं| जब हम उस चीज़ के प्रति अपना नज़रिया बदल देते हैं तो लगता है कि जीवन कितना अलग है|

इसे पौराणिक कहानियों के माध्यम से समझा जा सकता है|

एक बार श्रीकृष्ण और अर्जुन कहीं जा रहे थे| रास्ते में उन्हें एक घायल कुत्ता मिला| कुत्ते के जख्म पर कीड़े लग चुके थे और वह दर्द से कराह रहा था| उस कुत्ते की दशा देखने लायक भी नहीं थी|

कुत्ते को जब अर्जुन और श्रीकृष्ण ने देखा तो वे दोनों ही उसे देखकर व्यथित हुए| तब अर्जुन ने कहा- “प्रभु, इस कुत्ते को देखिए, कितना गंदा है| इसके शरीर पर घाव देखकर इसके पास खड़े रहने की इच्छा भी नहीं होती|”

तभी श्रीकृष्ण बोले- “पार्थ, तुमने इस कुत्ते के घाव देखे, लेकिन क्या तुमने इसके दांत देखे| कितने सुंदर और मोतियों की तरह सफ़ेद हैं| इसके दांत देखकर इसका अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि यह कितना सुंदर होगा|”

श्रीकृष्ण की बातों से अर्जुन को अपनी भूल का एह्सास हुआ| उसने उनसे क्षमा मांगते हुए कहा कि प्रभु आपकी बातें हमेशा मुझे कुछ नया सन्देश देती हैं| आप सही कहते हैं, यदि हम अपनी सोच को परिवर्तित कर लें तो फिर संसार में सबकुछ सुन्दर हो सकता है| अच्छाई सभी में होती है, बस हमें एक अलग नज़रिये से उसे देखने की ज़रूरत है।

Share.