कौन है लता करे, जिन्होंने 62 की उम्र में वो पहाड़ तोडा कि फिल्म बनाने वाले दौड़े चले आए

0

  • 68 साल की महिला ने जीती मेराथन रेस
  • पति के इलाज के लिए भाग लिया रेस में
  • बुजुर्ग महिला का नाम है लता
  • लता पर बन चुकी है फिल्म

किसी की कहानी इतनी दिलचस्प होती है की उन्हें लोगों तक जाने की ज़रूरत नहीं होती उन तक लोग (Marathon Runner Lata Bhagwan Kare) खुद चल कर आ जाते है ऐसी ही कहानी एक  बुज़ुर्ग महिला की है जिन्होंने काम ही ऐसा किया की फिल्म बनाने वाले भी उनके पास खुद चले आए  | कौन है वो औरत जिसके पास खुद फिल्म वाले आ गए बता दें उस औरत का नाम लता हैं महाराष्ट्र (Lata Bhagwan Kare)  के बारामती ज़िले के एक गांव में रहती हैं.और उनकी उम्र 68 साल की है लेकिन फेमस है अब क्यों फेमस है वो भी बता देते है। मेराथन रेस का नाम तो आप सभी ने सुना होगा  मैराथन रनर (Lata Kare) के नाम से जानी जाती हैं. साल 2014 की बात है लता को कोई नहीं जानता था | लेकिन उस साल कुछ ऐसा हुआ कि उन्होंने मैराथन रेस  (marathon  Race) में हिस्सा लिया, जीत हासिल की और हर कोई उन्हें जानने लगा. दरअसल, उस साल लता के पति काफी बीमार हो गए थे. उनके इलाज के लिए पैसे नहीं थे. पैसे पाने के लिए ही लता ने मैराथन (Marathon Runner Lata Bhagwan Kare) में हिस्सा लिया था.पूरी कहानी आखिर लता की है क्या

महाराष्ट्र में मराठवाड़ा में गन्ना मजदूरों ने इसलिए निकलवा दी अपनी बच्चेदानी

बता दें लता और उनके पति भगवान बुलधाना जिले के हैं,लेकिन बुलधाना (Marathon Runner Lata Bhagwan Kare) में काम नहीं था तो दोनों पति पत्नी काम के लिए बारामती आ गए थे | बारामती शिफ्ट होने के बाद पति भगवन सिक्योरिटी का काम करने लगे और लता खेतो में जा – जा कर किसी के गेहू काटती तो किसी के घर जाकर काम करती | लता और भगवान (Lata Bhagwan Kare) की तीन बेटियां है और एक बेटा इधर उधर तीनो बेटियों की जैसे – तैसे शादी करवाई पर  बेटे की कहीं एक जगह स्थिर नौकरी नहीं थी तीनो लता ,भगवान और बेटे की कमाई से थोड़ा बहुत घर चल जाता लेकिन अचानक 2014 में लता के पति भगवान सीने में दर्द होने लगा | डॉक्टर के पास लेके गए तो डॉक्टर्स ने MRI कराने को बोल दिया अब इतने पैसे नहीं थे कि  पाए और इस टेस्ट के लिए लगने थे पांच हज़ार रुपए. लता के पास इतने पैसे नहीं थे. उन्हें कहीं से पता चला कि बारामती में मैराथन रेस (Marathon Race in Baramati)  होने वाली है. जीतने वाले को पांच हज़ार रुपए का इनाम मिलेगा |

Earthquake in Palghar, Maharasthra : भूकंप के झटकों से हिला महाराष्ट्र

लता ने लोगों के सुझाव पर रेस में भाग लिया. साड़ी और चप्पल पहनकर रेस में भागने (Marathon Runner Lata Bhagwan Kare) के लिए पहुंच गईं. दौड़ शुरू हुई, तो कुछ देर बाद लता की चप्पलें टूट गईं. उन्होंने उस पर ध्यान नहीं दिया. बस भागती गईं और आखिर में रेस जीत ली. इनाम के पैसे मिले, तो पति का इलाज कराया| लता को यहां से इतनी हिम्मत मिली कि अब तक कई बार मैराथन दौड़ चुकी हैं, कई शील्ड, प्राइज़ अपने नाम कर चुकी हैं| लता की कहानी इतनी फेमस हुई कि  उनके ऊपर फिल्म भी बन चुकी है जो पिछले मंथ 17 जनवरी को रिलीज़ हुई थी | फिल्म मराठी थी और फिल्म का नाम था लता भगवन करें और इस फिल्म में लता ने ही अपना किरदार निभाया था डायरेक्टर हैं नवीन देशाबोइना  (Naveen Deshaboina) और लता के इस किरदार को दर्शकों ने पसंद भी किया था लता की जीत के बाद उनके पातियो भगवन ने कहां मुझे लता पर गर्व है  कि कभी लता ने अपने बारें में नहीं सोचा और मेरे इलाज के लिए दौड़ती गई और जो पैसे वहां से मिले उससे मेरा इलाज करवाया बता दें लता की फिल्म का ट्रेलर आप यू ट्यूब पर देख सकते है हमारी तरफ से लता के जज़्बे को सलाम है

बैंक ऑफ महाराष्ट्र में कई पदों पर निकली भर्तियाँ

Vagisha Pandey

 

 

 

 

Share.