9 साल के बच्चे का निबंध देख रोएगी पूरी दुनिया, सोशल मीडिया पर जमकर हो रहा वायरल

0

कहते है ना बच्चो (Mangesh Valke Viral Essay) में भगवन बसते है ,वो जो करते है सही करते है और दिल से करते है। ऐसा ही एक बच्चा है जो 9 साल का है लेकिन इस वक़्त सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है ,ये बच्चा है महाराष्ट्र के बीड़ ज़िले (Maharashtra) का मंगेश वालके  (Mangesh Vaalke)चौथी कक्षा में पड़ता है, और 9 साल का है, इस बच्चे ने एक निबंध लिखा है जो सोशल मीडिया (social media) पर तेज़ी से वायरल हो रहा  है  अब आप लोग ये सोच रहें होंगे की इस बच्चे ने ऐसा क्या लिखा जो वायरल हो रहा है ,लेकिन बता दें कुछ तो ऐसा लिखा होगा जो वायरल हो रहा है|

Children’s Day Hindi Poems : हठ कर बैठा चांद एक दिन, माता से यह बोला

 

इतनी आसानी से तो कोई सोशल मीडिया (social media)पर वायरल नहीं हो जाता ,बता दें स्कूल में आयोजित निबंध (Mangesh Valke Viral Essay) प्रतियोगिता ( में बच्चे से ‘मेरे पिता’ विषय पर निबंध लिखने को कहा गया था जिसमें उसने अपने घर की गरीबी और आर्थिक समस्या के बारे में लिखा, छात्र का लेख पढ़कर शिक्षिका भी भावुक हो गईं। टीचर ने उस निबंध को अपने सहयोगियों और जानकारों को भेजकर  (Mangesh Vaalke Essay Viral) बच्चे के लिए सहायता मांगी। कुछ ही देर में बच्चे का यह निबंध वायरल हो गया जो अब चर्चा में है।मंगेश ने निबंध में लिखा, मेरे पिता कहा करते थे पढ़-लिखकर साहब बनना, लेकिन एक साल पहले पिता की टीबी से मौत हो गई। पिता की मौत पर मैं और मां खूब रोए, उस दिन बहुत से लोग हमारे घर आए थे|

Happy Children’s Day 2019 Videos : बाल दिवस पर शेयर करें ये Videos & GIF

हमारे साथ होने की सांत्वना दे रहे थे। पिता के जाने के बाद अब कोई हमारी मदद नहीं करता। मेरी मां दिव्यांग है और घर का सारा काम मुझे करना पड़ता है। मंगेश (Mangesh Valke Viral Essay) की शिक्षिका ने बताया कि जब उन्होंने छात्र का लेख पढ़ा तो उनका दिल भर आया | शिक्षिका ने बताया कि मंगेश के निबंध से मैं बहुद दुखी हुई और उसकी मदद के लिए लेख अपने साथियों को भेज दिया। उन्होंने बताया कि मंगेश की पढ़ाई के लिए उसके पास पैसा नहीं है क्योंकि, जो भी पैसा मां ने इकट्ठा किया था वह मंगेश के पिता के इलाज में खर्च हो गया। इसके बाद मंगेश (Mangesh Vaalke Essay  Social Media Viral) के लिखा निबंध इस कदर वायरल हुआ कि सीधे सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे के पास पहुंच गया।मामला संज्ञान में आते ही मंत्री धनंजय मुंडे ने सरकार आदेश जारी करते हुए मंगेश को आर्थिक मदद देने का एलान किया है।

Mangesh Valke Viral Essay On Social Media | Read Full News

उन्होंने कहा, सामाजिक न्याय विभाग (Social Justice Department) से जो भी ममद हम बच्चे की कर सकते हैं उसका आदेश पहले ही दे दिया गया है। मंत्री ने कहा, मंगेश (Mangesh Valke Viral Essay) जब तक अपने पैरों पर खड़ा नहीं हो जाता तबतक उसकी जिम्मेदारी मैंने खुद उठाई है। एक छोटे से निबंध ने उस छोटे से बच्चे के इमोशन ने आज उसे मंत्री तक पहुंचा दिया अब ये बच्चा जब तक पड़ेगा उसे कोई प्रॉब्लम नहीं आएगी | किसी ने क्या सही कहां है बच्चे बड़े मासूम होते है ये नहीं सोचते की क्या करना है क्या कर रहा हु बस जो मन में होता है बोल देतें हैं | और उसी का उदहारण है ये निबंध जिसमे मंगेश ने सब कुछ बयां कर दिया|

Mangesh Valke Viral Essay On Social Media | Read Full News

Children’s Day 2019 Messages : बाल दिवस की ऐसे दें शुभकामनाएं

Name -Vagisha Pandey

 

 

Share.