’40 हजार कुत्तों को मारा था, केरल में बाढ़ उसी का नतीजा’

0

केरल में आई भीषण बाढ़ से काफी तबाही हो चुकी है। लोग अपना घर, दुकान, ज़मींन सब कुछ खो चुके हैं। 400 से ज़्यादा लोग अपनी जान गवां चुके हैं। केरल की बाढ़ पर आए दिन नई-नई बयानबाजी होती रहती है। यहां तक कि नेता मंत्री भी इस बाढ़ पर अपना बेतुका तर्क देने से नहीं चूकते हैं। ऐसे ही इन दिनों सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें कुत्तों की मौत को केरल बाढ़ से जोड़ा जा रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस मैसेज में दावा किया जा रहा है कि 2016 में केरल में 40 हजार कुत्तों को मारा गया था और उसी का नतीजा है कि आज केरल में इतनी भयानक बाढ़ आई। इसके साथ ही कुछ फोटो भी शेयर की जा रही हैं, जिन्हें केरल का ही बताया जा रहा है।

वायरल हो रहे पोस्ट में लिखा गया है,  “याद है न 2016 की वो घटना, जब केरल के अंदर 40 हजार से भी ज्यादा मासूम कुत्तों को किस प्रकार तड़पा-तड़पाकर मारा गया था और किसी भी पशुप्रेमी ने कुछ भी नहीं कहा था और आज केरल में मनुष्य भी वैसे ही मर रहा है क्योंकि स्वर्ग यहां और नरक भी यहां, पाप तो अपने बाप को भी नहीं छोड़ता। कुत्ता मारने पर सोने का सिक्का भी बांटा जा रहा था, इनाम के तौर पर तो आज आदमी के मरने पर भीख क्यों मांग रहे हो। यदि कुछ गलत कह गए हो तो क्षमा।“

हालांकि इस पोस्ट में कुछ दावे सच्चे हैं और कुछ झूठे भी। वर्ष 2016 में केरल में आवारा कुत्तों का आतंक बढ़ गया था और लगभग 25 हजार लोगों को कुत्ते काटने के मामले भी सामने आए थे, लेकिन आधिकारिक तौर पर नहीं बताया गया था कि कितने कुत्ते मारे गए। वहीं पुराना रिकॉर्ड देखें तो वर्ष 2016 में 40 हजार कुत्तों को इंजेक्शन देकर मारा गया था, जिसका जमकर विरोध हुआ था। कुत्तों को मारने पर सोने के सिक्के बांटने वाली बात भी सही है। तिरुवनंतपुरम के एक कॉलेज के पूर्व छात्रों के संगठन की तरफ से कुत्तों को मारने पर सोने का सिक्का देने का इनाम रखा गया था।

केरल की तबाही को नासा ने तस्वीर में किया बयां

केरल के लिए एकजुट हुए मददगार, जानिए किसने-किसने की मदद

वीडियो: सुधा मूर्ति ऐसे कर रही हैं बाढ़ पीड़ितों की मदद

Share.