X

ट्रक चलाकर बीमार पिता का करवाया इलाज

0

624 views

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर हम मध्यप्रदेश की एक ऐसी युवती की कहानी बताने जा रहे हैं, जिसके साहस को आज सभी सलाम कर रहे हैं| अपने छह भाई बहनों के भरण-पोषण के साथ उन्होंने अपने पिता का भी ट्रक चलाकर इलाज किया|

मध्यप्रदेश के मंडला जिले की रहने वाली तबस्सुम अली अनाज की बोरियों से भरा ट्रक दूर प्रदेश तक लेकर जाती हैं| तबस्सुम ने बताया कि पहले मां की किडनी खराब हो गई थी, जिससे उनके इलाज में बहुत पैसा लग गया| इसके बाद उनका देहांत हो गया| मां के देहांत के बाद पिता की भी तबीयत खराब हो गई, जिसके बाद पूरे परिवार की जिम्मेदारी उठाने के लिए अपने भाई के साथ वे भी आगे आईं|

बताया जा रहा है कि तबस्सुम प्रदेश की पहली महिला है, जिसे हेवी व्हिकल का ड्राइविंग लाइसेंस मिला है| उन्होंने बताया, “पहले मैं भी यही सोचती थी कि महिला होने के नाते इस काम के कई खतरे भी हैं, लेकिन मैंने अपने व्यवहार में कुछ जरूरी परिवर्तन किया| कई बार मैं चार से पांच दिनों के लिए ट्रक लेकर मंडला से बाहर जाती हूं और  ढाबे पर खाना खाती हूं| रात में मैं ट्रक चलाती हूं| यह सब काम करने में शुरुआत में डर लगता था, लेकिन अब आत्मविश्वास बहुत बढ़ चुका है| जो जैसी बात करता है, उसे वैसा ही जवाब देती हूं| मैंने तय किया है कि कभी शादी नहीं करुंगी| इसी काम के जरिये मैंने छोटी बहन की शादी करवाई| अब छोटी बहनों को अच्छे से पढ़ाना है|”

Share.
31