website counter widget

ये मत सोचो कि तुम्हारे पास क्या नहीं है

0

ये मत सोचो …
ये मत सोचो कि तुम्हारे पास क्या नहीं है;

बल्कि, उसे सराहो जो तुम्हारे पास है और जो हो सकता है।

ये सोच कर दुखी मत हो कि तुम क्या नहीं हो;

बल्कि, ये सोच कर खुश हो कि तुम क्या हो और क्या बन सकते हो।

ये मत सोचो कि लोग तुम्हारे बारे में क्या कहते हैं;

बल्कि, ये सोचो कि तुम खुद अपने बारे में क्या सोचते हो और क्या सोच सकते हो।

ये मत सोचो कि कितना समय बीत गया;

बल्कि, ये सोचो कि कितना समय बाकी है और कितना मिल सकता है।

ये मत सोचो कि तुम फेल हो गए;

बल्कि, ये सोचो कि तुमने क्या सीखा और तुम क्या कर सकते हो।

ये मत सोचो कि तुमने क्या गलतियाँ कीं;

बल्कि, ये सोचो कि तुमने क्या सही किया और क्या सही कर सकते हो।

ये मत सोचो कि आज कितनी तकलीफ उठानी पड़ रही है;

बल्कि ये सोचो कि कल कितना शानदार होगा और हो सकता है।

ये मत सोचो कि क्या हो सकता था;

बल्कि, ये सोचो कि क्या है और क्या हो सकता है।

ये मत सोचो कि कप कितना खाली है;

बल्कि, ये सोचो कि कप कितना भरा है और कितना भरा जा सकता है।

ये मत सोचो कि तुमने क्या खोया;

बल्कि, ये सोचो कि तुमने क्या पाया और क्या पा सकते हो।

(इंटरनेट से प्राप्त कविता )

-Mradul tripathi

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.