सिकंदर की प्रेरक कहानी

0

Inspiring Story Of Sikandar : एक बार सिकंदर के पास एक सैनिक अधिकारी आया और उसने बादशाह को स्वर्णजड़ित एक सुंदर सी पेटी पेश की| पूछने पर उसने बताया कि उसे वह पेटी ईरान में लूट में मिली थी| बादशाह उस पेटी की नक्काशी देख बेहद प्रभावित हुआ और उसने अपने दरबारियों से पूछा कि पेटी में कौन-सी कीमती और खूबसूरत चीज रखी जाए| एक दरबारी ने कीमती हीरे और जवाहरात रखने का सुझाव दिया तो दूसरे ने कीमती वस्त्र रखने को कहा| किसी ने खजाने की चाबियों का गुच्छा रखने की तो किसी ने गोपनीय पत्रों को रखने की सलाह दी| किंतु बादशाह को एक भी सुझाव सही नहीं लगा|

तब वह स्वयं विचार करने लगा कि ऐसी कौन-सी वस्तु है जिसने उसके जीवन को प्रेरणा दी है (Inspiring Story Of Sikandar)| उसका अंतर्मन बोला, ‘सिकंदर! तुझे जो गौरव और ख्याति मिली है, वह न तो रुपये-पैसे से मिली है और न सारे मुल्क को जीतने के कारण| तूने तो हजारों-लाखों लोगों को बिना कारण मौत के घाट उतारा है| युद्ध और रक्तपात से कोई गौरव नहीं मिला|’ उसकी अंतरात्मा आगे सोचने लगी कि फिर ऐसी कौन-सी वस्तु है, जिसने उसके जीवन को नई दिशा दी है? अचानक उसे ख्याल आया कि पौरुष, पराक्रम और साहस का मार्ग उसे एक ग्रंथ से मिला था| उसी से अपने अंदर छिपी शक्तियों का उसे ज्ञान हुआ था और इसी कारण वह विश्व-विजयी बन सका|

सारे दरबारी बड़ी उत्कंठा से सिकंदर के चेहरे पर उठते भावों को देख रहे थे| उन्हें जिज्ञासा हो रही थी कि आखिर सम्राट पेटी में किस वस्तु को रखना पसंद करते हैं| अचानक सिकंदर ने आदेश दिया, ‘इस पेटी में महाकवि होमर लिखित महाकाव्य ‘इलियड’ रखो| यह मेरे लिए सबसे कीमती और बेहतरीन चीज है| इस पुस्तक ने मेरे जीवन को नया मोड़ दिया था और इसी के कारण मुझमें शौर्य भाव जाग्रत हुआ था (Inspiring Story Of Sikandar)| ’

अभिषेक दुबे

कविता: भारत गुणगान

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.