Hindi Kahani : मुल्ला नसरुद्दीन का

0

मुल्ला नसरुद्दीन अपनी हाजिरजवाबी और अक्लमंदी के लिए बड़े प्रसिद्ध थे | एक बार मुल्ला नसरुद्दीन एक पुस्तकालय में गए| वहाँ उनकी मुलाक़ात एक दार्शनिक से हुई| दार्शनिक मुल्ला की हाजिरजवाबी और अक्लमंदी की बातों से बहुत प्रभावित हुआ| बातों बातों में दार्शनिक और मुल्ला की अच्छी दोस्ती हो गई| मुल्ला ने चलते समय दार्शनिक को अपने घर पर आने के लिए आमंत्रित किया| दार्शनिक ने मुल्ला का निमंत्रण स्वीकार करते हुए कहा, “ठीक है, बुधवार दोपहर को तुम्हारे घर आता हूँ|”

Hindi Kahani : अदृश्य तीसरी बकरी

बुधवार का दिन आया तो मुल्ला किसी जरूरी काम से बाहर चला गया| उसे याद ही नहीं रहा कि आज दार्शनिक उसके घर आने वाला है| उधर दार्शनिक नियत समय पर मुल्ला के घर पहुंचा और दरवाजा खटखटाया| मुल्ला की पत्नी ने बिना दरवाजा खोले ही कह दिया कि वे घर पर नहीं है| दार्शनिक को बहुत गुस्सा आया\ उसने सोचा कि ये कैसा आदमी है जो मुझे बुलाने के बाद खुद घर से चला गया| उसने मुल्ला के दरवाजे पर “मूर्ख” लिख दिया और चलाया आया|शाम को जब मुल्ला वापस घर आया तो उसने दरवाजे पर “मूर्ख” लिखा देखा| वह तुरंत समझ गया कि क्या हुआ होगा और ये किसने लिखा होगा| वह तुरंत दार्शनिक के घर के लिए रवाना हो गया| दार्शनिक के पास पहुंचकर मुल्ला ने कहा, “मुझे माफ़ करें, मैं तो आपको अपने घर बुलाकर भूल ही गया था|

Hindi Kahani : अकबर-बीरबल का दिलचस्प किस्सा

वह तो जब मैं घर लौटा और दरवाजे पर आपका नाम लिखा देखा तो याद आया कि आज तो आपसे मुलाक़ात होनी थी| मैं तुरंत आपके पास चला आया|”दार्शनिक एक बार फिर मुल्ला की विनोदी प्रवृत्ति का कायल हो गया और उठकर तुरंत मुल्ला के साथ उसके घर चल दिया| इस कहानी की शिक्षा यह है कि कई बार बात बिगड़ जाती है लेकिन सरल और सभ्य स्वभाव से आप उसे फिर से बना सकते है|

Hindi Kahani : अरबी घोड़ा

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.