Hindi Kahani : जब भगवान ने कसाई के लिए ब्राह्मण को छोड़ा

0

यह कहानी है एक ईमानदार कसाई सदना की| वह मांस की दुकान पर सदा भगवान के भजन गाता रहता था| एक दिन वह कहीं जा रहा था, तभी उसके पैर से एक पत्थर लगा | उसने उस गोल काले पत्थर को उठाया मांस तोलने के काम में उपयोग करने के लिए रख लिया | कुछ दिनों में उसने पाया कि पत्थर साधारण नहीं है| जितना तोलना हो पत्थर उतने वजन का बन जाता है| यह बात अब सभी जगह फ़ैल गई | इस चमत्कार को देखने लोग आते और सदना की ग्राहकी भी बढ़ जाती | यह बात एक शुद्ध ब्राह्मण तक पहुंची| वह अपने विचारों से समझौता कर चमत्कारिक पत्थर को देखने पहुंचा | नजारा देखने के बाद उनके आश्चर्य का ठिकाना न रहा | ब्राह्मण सदना के पास गए उन्हें देख सदना कसाई प्रसन्न और आश्चर्यचकित एक साथ हो गया | नम्रता से सदना ने ब्राह्मण को बैठने के लिए जगह दी|

Hindi Kahani : अहंकार से संत तक की यात्रा

ब्राह्मण बोला- ‘तुम्हारे इस चमत्कारिक पत्थर को देखने के लिए ही मैं तुम्हारी दुकान पर आया हूं, या यूं कहें कि ये चमत्कारी पत्थर ही मुझे खींच कर तुम्हारी दुकान पर ले आया है|’ ब्राह्मण ने कहा यह कोई साधारण पत्थर नहीं है, स्वयं भगवान शालिग्राम जी हैं| इनसे मांस तोलना बहुत बड़ा पाप है| सदना ने ब्राह्मण की बात सुनकर शालिग्राम ब्राह्मण को दे दिया | ब्राह्मण ने शालिग्राम शिला को घर लाकर स्नान करवाया, पंचामृत से अभिषेक किया व विधि पूर्वक पूजा की |

Hindi Kahani : ईश्वर को करना पड़ा इंतज़ार

कुछ दिन बाद ब्राह्मण के स्वप्न में श्री शालिग्राम जी आए व कहा- हे ब्राह्मण! मैं तुम्हारी सेवाओं से प्रसन्न हूं, लेकिन तुम मुझे उसी कसाई के पास छोड़ आओ|ब्राह्मण ने पूछा क्यों ? भगवन ने कहा पूजा मुझे अच्छी लगती है,परन्तु जो भक्त मेरे नाम का गुणगान-कीर्तन करते में उनके पास रहना चाहता हूँ | ब्राह्मण ने अगले दिन भगवान को कसाई को सौप दिया | प्रसंग का सार यह है कि भगवान भाव के भूखे है (Bhagwan Bhaw Ke Bhuke) न की दुनिया के आडम्बरों के |

Hindi Kahani : जीवन की सबसे कीमती वस्तु

अभिषेक

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.