आपके जीवन के दुःख को दूर करेगी कलाम की कही बातें

0

जिस तरह सिक्के के दो पहलू होते हैं, उसी तरह मनुष्य के जीवन के भी दो पहलू होते हैं सुख और दुख| सुख तो मनुष्य को भाता है, लेकिन दुःख रास नहीं आता| जब दुख का समय आता है तो मनुष्य ऐसा महसूस करने लगता है कि उसका इस संसार में मानव के रूप में जन्म लेना ही व्यर्थ है| कई लोग दुःख से घबरा जाते हैं, लेकिन हमें घबराना नहीं चाहिए, बल्कि उनका डटकर मुकाबला करना चाहिए| जो इसका मुकाबला करता है जीत उसी की होती है|

आज हम आपको अब्दुल कलाम द्वारा कही गईं 3 ऐसी बातें बताने जा रहे हैं, जिन्हें जीवन में कभी भी दुख आए तो याद कर लेना|

#1. पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर अब्दुल कलाम ने पहली बात यह कही थी कि जो इंसान कार्य करता है, वह उसमें सफल होता है या असफल| यदि वह उस कार्य में असफल भी होता है तो उसे सीखने को मिलता है और असफलता ही सफलता का सबसे बड़ा राज़ होती है| अतः दुःख के समय किसी कार्य को करने से डरने की जगह उसका डटकर मुकाबला करना चाहिए|

#2.  मनुष्य को हमेशा याद रखना चाहिए कि दुःख के मार्ग पर वह अकेला होता है और ऐसे समय में उसके अपने भी पराये हो जाते हैं| इसलिए ऐसे समय में किसी की सहायता लेने की जगह खुद ही अपनी समस्याओं का हल निकालें|

#3. तीसरी बात उन्होंने यह कही थी कि जो लोग अपनी मंजिलों में असफलताओं की राह देखकर दुखी हो जाते हैं और उन रास्तों से भटक जाते हैं, वे जीवन में कभी सफल नहीं हो पाते हैं| अतः यदि आपको सफल होना है, तो कांटों की राह पर चलना सीखना होगा|

Share.