X

राजनीतिक पार्टियां ऐसे कर रहीं विरोध

0

89 views

त्रिपुरा विधानसभा में भाजपा की जीत के बाद लेनिन की मूर्ति तोड़ी गई थी, तब से लेकर अभी तक यह मामला शांत ही नहीं हुआ है| राजनीतिक पार्टियों के बीच अब मूर्तितोड़ सियासत शुरू हो गई है| एक के बाद एक अलग-अलग स्थानों पर मूर्तियां तोड़ी जा रही है| 

बताया जा रहा है कि कोलकाता में आज सुबह करीब आठ बजे टॉलीगंज स्थित केवाईसी पार्क में श्यामाप्रसाद मुखर्जी की मूर्ति तोड़ दी गई| इस घटना के बाद नक्सलियों पर शक किया जा रहा है| गौरतलब है कि इसके पहले त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति तोड़ी गई थी, जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना पर नाराजगी जताई है|

वहीं तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में मंगलवार रात समाज सुधारक एवं द्रविड़ आंदोलन के संस्थापक ईवी रामासामी ‘पेरियार’ की प्रतिमा क्षतिग्रस्त कर दी गई थी| घटना के बारे में पुलिस ने बताया कि नशे में दो व्यक्तियों ने इस पूरी घटना को अंजाम दिया है| पेरियार की मूर्ति तोड़ने की घटना ऐसे वक्त हुई, जब भाजपा के एक नेता की फेसबुक पोस्ट के कारण विवाद खड़ा हो चुका था| भाजपा नेता एच.राजा ने फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि लेनिन की मूर्ति गिराए जाने के बाद अगला नंबर पेरियार की मूर्ति का हो सकता है| इस घटना के बाद अभिनेता से राजनेता बने कमल हासन की पार्टी ने नाराजगी जताई है|

इसके बाद तमिलनाडु के कोयंबटूर में बुधवार सुबह कुछ अज्ञात लोगों ने भाजपा ऑफिस पर पेट्रोल बम फेंका | बताया जा रहा है कि घटना कोयंबटूर के चिथापुडुर में बुधवार तड़के हुई| जिस वक्त बीजेपी ऑफिस पर यह पेट्रोल बम फेंका गया, उस वक्त वहां कोई भी कार्यकर्ता या अन्य लोग मौजूद नहीं थे| पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है, जिनके आधार पर जांच की जाएगी| कयास लगाए जा रहे हैं कि ‘पेरियार’ की प्रतिमा क्षतिग्रस्त किए जाने से नाराज होकर कुछ लोगों ने यह हमला किया है|

एमएचए ने देश में जगह-जगह राजनेताओं की तोड़ी जा रही मूर्तियों का कड़ा विरोध किया है| एमएचए ने इस मामले पर केंद्रीय गृह मंत्रालय से बातचीत की है| गृह मंत्रालय से बातचीत करते हुए एमएचए ने कहा है कि गृह मंत्रालय को मूर्तियों के टूटने पर कड़ा एक्शन लेने की आवश्यकता है| एमएचए ने कहा कि ऐसे मामलों पर कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए|

Share.
31