X

हाईकोर्ट की अवमानना करके घिरे मनीषसिंह 

0

546 views

इंदौर में एक पूर्व पार्षद की याचिका के बाद उच्च न्यायालय ने निगमायुक्त को नोटिस जारी किया है| कोर्ट ने इस मामले में निगमायुक्त मनीषसिंह से नगर निगम चुनावों के 3 वर्ष के बाद भी संविधान अनुसार 22 वार्ड कमेटियों का गठन नहीं किए जाने के संबंध में जवाब मांगा है|

दरअसल, नगर निगम की जनसंख्या के अनुसार शहर में 22 वार्ड कमेटियों का गठन किया जाना था, लेकिन महापौर मालिनी गौड़ के पदासीन होने के बाद से आज तक वार्ड कमेटियों का गठन नहीं किया गया| इसी कारण पूर्व पार्षद दिलीप कौशल ने हाईकोर्ट में  याचिका दायर की थी | इस याचिका में यह बताया गया है कि निगमायुक्त मनीषसिंह ने शपथ-पत्र देकर 19  वार्ड कमेटियों का चुनाव कार्यक्रम घोषित किया था, लेकिन इसकी कार्रवाई आगे नहीं बढ़ी|

इसके बाद यह मामला उच्च न्यायालय पहुंचा, जहां न्यायालय द्वारा 6 सप्ताह में 22 वार्ड कमेटियां बनाने का आदेश दिया गया था, लेकिन तय समय सीमा में भी वार्ड कमेटियों का गठन नहीं किया गया| इसके बाद पूर्व पार्षद दिलीप कौशल ने फिर से याचिका दायर की थी| इसके बाद फिर से न्यायालय द्वारा 4 सप्ताह में 22 वार्ड कमेटियों के गठन का आदेश दिया था, लेकिन फिर भी कमेटी का गठन नहीं हुआ| इसके बाद उच्च न्यायालय की डबल बेंच ने मामले में मंगलवार को निगमायुक्त मनीषसिंह के खिलाफ अवमानना का नोटिस जारी किया|

Share.
31