हिन्दू आतंकवादी के बयान पर कमल हासन पर फेंकी चप्पल

0

अभिनेता से नेता बने ‘मक्क्ल निधि मय्यम’ (Makkal Needhi Maiyam ) के अध्यक्ष कमल हासन (Kamal Haasan) के विवादित बयान (kamal haasan controversial statement) के बाद बवाल मचा हुआ था। इसके बाद कई लोगों ने कमल हासन पर निशाना साधा। अब विवादित बयान (controversial statement)  के कारण हासन पर चप्पल फेंकी गई। दरअसल, मदुरै (Madurai) के थिरुपरमकुंद्रम में चुनाव प्रचार के दौरान तब हड़कंप मच गया, जब भीड़ में से एक व्यक्ति ने हासन पर चप्पल फेंकी। घटना के बाद पुलिस ने दस लोगों को गिरफ्तार किया है। अब पुलिस इस बात का पता लगाने में जुटी हुई है कि चप्पल किसने और किसके इशारों पर फेंकी। गिरफ्तार किये गए लोगों में भाजपा कार्यकर्ता और दूसरे संगठन जैसे कि हनुमान सेना का नाम भी शामिल है। जब हासन स्टेज पर लोगों की भीड़ को संबोधित कर रहे थे तब उनकी ओर चपप्ल फेंकी गई। चप्पल हासन को नहीं लगी और भीड़ पर गिर गई।

आचार संहिता नहीं, मोदी प्रचार संहिता

हासन पर हुआ केस

नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) पर दिए गए बयान के बाद कमल हासन (kamal haasan controversial statement) के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। इसके पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने हासन के ‘गोडसे पहला हिन्दू आतंकी’ बयान पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया था। कोर्ट ने याचिकाकर्ता को कहा कि ये मामला तमिलनाडु का है, ऐसे में हम इस पर सुनवाई नहीं करना चाहते। हासन के खिलाफ भाजपा नेता अश्विनी कुमार उपाध्याय की ओर से याचिका दायर की गई थी। याचिका में मांग की गई थी कि ऐसे लोगों के चुनाव लड़ने पर रोक लगानी चाहिए जो चुनावी लाभ लेने की मंशा से धर्म के बारे में अनुचित बयानबाजी करें। सुनवाई के दौरान जस्टिस जीएस सिस्‍तानी और जस्टिस ज्‍योती सिंह ने कहा कि कमल हासन के बयान से संबंधित मामला अदालत के अधिकार क्षेत्र के बाहर है, इसलिए वह इस पर सुनवाई नहीं कर सकती है। वहीँ अदालत ने निर्वाचन आयोग से कहा है कि वह कमल हासन की टिप्पणी के मामले में फैसला ले।

23 मई को मोदी की सत्ता का आखिरी दिन!

क्या था मामला ?

कमल हासन ने तमिलनाडु के अरावकुरिचि में चुनाव अभियान के दौरान कहा था कि आजाद भारत का पहला आतंकी एक हिंदू था। मैं ऐसा इसलिए नहीं कह रहा, क्योंकि मैं मुस्लिमों के एरिया में सभा कर रहा हूं बल्कि इसलिए कह रहा हूं क्योंकि मेरे सामने गांधी की प्रतिमा है। मुझे लगता है कि देश का पहला आतंकी नाथूराम गोडसे था।

नीतीश कुमार को लेकर गुलाम नबी आजाद का खुलासा

Share.