website counter widget

राहुल गांधी बनेंगे प्रधानमंत्री, झूठा साबित होगा एक्जिट पोल!

0

लोकसभा चुनाव (lok sabha election 2019) के सातंवे यानी अंतिम चरण  (last phase of election) के मतदान होने के बाद देशभर की मीडिया ने एक्जिट पोल दिखाए। एक्जिट पोल (Exit poll ) के आंकड़ों के अनुसार ऐसा दावा किया जा रहा है कि अबकी बार फिर मोदी सरकार (modi government) आने वाली है। भाजपा (Bharatiya Janata Party)  इस बार पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाने वाली है।

लोकसभा चुनाव 2014 (lok sabha election 2014 ) में मिली सीटों से भी ज्यादा सीटें इस बार मिलेगी। इन आंकड़ों को देखने के बाद तो भाजपा की जीत की खुशियां परिणाम आने से पहले ही मनाई जाने लगी है, लेकिन इन खुशियों को उस वक्त ग्रहण लगेगा जब सरकार भाजपा की नहीं बल्कि कांग्रेस की बनेगी। सभी के दावों और सपनों पर उस वक्त पानी फिर जाएगा जब नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi) नहीं बल्कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi Will Be Next PM) देश के प्रधानमंत्री बने।

PHOTOS : तंबू लगाकर दूरबीन और कैमरों से EVM की निगरानी

इस बार प्रधानमंत्री (PM ) नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi) नहीं राहुल गांधी  (Rahul Gandhi Will Be Next PM)  बनने वाले हैं। ऐसा दावा नहीं बल्कि अनुमान लगाया जा रहा है। ये अनुमान उन विषेशज्ञों द्वारा लगाए जा रहे हैं, जिन्होंने एक्जिट पोल के आंकड़ों को बारीकी से समझा और फिर उनकी तुलना की। अतीत में ऐसे कई उदाहरण हैं सामने आ चुके हैं जब बढ़ाचढ़ा कर दिखाए जा रहे आंकड़े गलत हुए हैं।

आइये जानते हैं कब गलत साबित हुए हैं ये आंकड़े  (Rahul Gandhi Will Be Next PM)

Exit poll 2014 के आंकड़े

लोकसभा 2014 के आंकड़े काफी हद तक सटीक साबित हुए थे। क्योंकि उस समय पूरे देश में मोदी लहर चल रही थी। उनके दावों और कालाधन वापस करने के वादों के कारण पूरा देश मोदीमय हो गया था।

केजरीवाल पर कुमार विश्वास का हमला

Exit poll 2009 के आंकड़े हुए थे झूठे साबित

इस समय भी कांग्रेस की जीत नहीं बल्कि उनकी हार से भरे थे एक्जिट पोल के आंकड़े, लेकिन तब ये आंकड़े गलत साबित हुए थे और देश की जनता ने मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री बनाया था।

Exit poll 2004 के आंकड़े भी निकले थे झूठे

वर्ष 2004 के एक्जिट पोल में भी भाजपा और एनडीए की जीत का ही अनुमान जताया जा रहा था, लेकिन तब भी इन आंकड़ों को झूठा साबित कर कांग्रेस की जीत हुई थी।

परिणामों से पहले चुनाव आयोग में बहस, आयुक्त लवासा की मांग खारिज और…

Exit poll 1999 के आंकड़े

1999 के लोकसभा चुनाव के बाद भाजपा की एक तरफ़ा जीत के दावे किये जाने लगे थे। सभी कह रहे थे कि भाजपा 350 से ज्यादा सीटें केवल अपने दम पर लेकर आएगी। उस समय जीत तो भाजपा की ही हुई थी, लेकिन सरकार बनाने में उसे कई पार्टियों का सहारा लेना पड़ा था।

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.