website counter widget

बंगाल में रैली विवाद पर मायावती का आरोप

0

लोकसभा चुनाव ( Lok Sabha Election 2019) के अंतिम चरण में पूरे देश की राजनीति गरमाई हुई है। आखिरी चरण के प्रचार (last phase of election) पर बंगाल में बैन लगाने के बाद कई पार्टियों के बयान सामने आ रहे हैं। चुनाव आयोग (Election Commission) के इस कदम के बाद टीएमसी ( TMC ) का साथ देने के लिए बहुजन समाज पार्टी (BSP) भी सामने आई है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah, President of BJP) की रैली के दौरान शुरू हुई हिंसा के बाद से ही टीएमसी और बीजेपी के बीच खींचतान जारी है। पीएम मोदी (PM Narendra Modi) और सीएम बनर्जी (Chief Minister Mamata Banerjee ) की इस लड़ाई के बीच पर अब बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati ) ने चुनाव आयोग और भाजपा पर निशाना (Mayawati Attacks On Election Commission) साधा है। माया का आरोप है कि ममता बनर्जी को जानबूझकर टारगेट किया जा रहा है।

ममता में दम है तो मुझे रोककर दिखाए : मोदी

मायावती ने चुनाव आयोग पर निशाना साधते (Mayawati Attacks On Election Commission) हुए कहा कि चुनाव आयोग केंद्र के इशारे पर काम कर रहा है। बंगाल में चुनाव प्रचार पर रोक लगानी ही थी तो मोदी की प्रस्तावित दो रैलियों के बाद रोक क्यों लगाई? प्रेस कॉन्फ्रेंस में मायावती ने कहा कि पश्चिम बंगाल में हिंसा के जिम्मेदार बीजेपी और आरएसएस हैं। बंगाल में चुनावी हिंसा और बवाल का सवाल है तो वहां ऐसा साफ तौर पर  लगता है कि हिंसा जानबूझकर आरएसएस और बीजेपी की ओर से करवाई गई है। बीजेपी की केंद्र सरकार की पूरी शक्ति के साथ बंगाल की गैर बीजेपी सरकार पर तरह-तरह के हथकंडे अपनाए जा रहे हैं। बीजेपी और नरेंद्र मोदी की कोशिश यह है कि बंगाल के मुद्दे को इतना ज्यादा गरमाया जाए कि बाकी मुद्दों से, उनकी विफलताओं और सरकार की असफलता से लोगों का ध्यान हट जाए।

हिन्दू आतंकवादी के बयान पर कमल हासन पर फेंकी चप्पल

गुरु-चेले ममता को कर रहे टारगेट

मायावती ने आगे कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी और उनके चेले अमित शाह द्वारा  सोची समझी रणनीति के तहत ममता को लंबे समय से टारगेट किया जा रहा है। लोकसभा चुनाव में भी ममता बनर्जी को षड़यंत्र के तहत टारगेट कर रहे हैं ताकि बीजेपी अपनी विफलताओं से लोगों का ध्यान हटा सकें। गुरु (मोदी) और चेले (अमित शाह) हाथ धोकर ममता के पीछे पड़े हैं जो न्याय संगत नहीं है। बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को जिस तरह टारगेट करके उनकी सरकार और उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। यह सब पीएम को शोभा नहीं देता है।

23 मई को मोदी की सत्ता का आखिरी दिन!

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.