नीतीश कुमार ने की साध्वी को बाहर निकालने की पैरवी

0

भोपाल (bhopal ) से बीजेपी ( BJP) प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ( sadhvi pragya thakur ) की ओर से महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने पर सियासी बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है| इस मुद्द्दे पर बीजेपी भी मुश्किल में हैं| अब बिहार के सीएम और बीजेपी के साथ गठबंधन में शामिल नीतीश कुमार ( nitish kumar ) ने इस मुद्दे पर कहा कि साध्वी प्रज्ञा के बयान के लिए बीजेपी को उन्हें पार्टी से बाहर करने पर विचार करना चाहिए|

पटना में वोट डालने के बाद नीतीश कुमार ने पत्रकारों से कहा कि महात्मा गांधी को लेकर इस तरह के बयानों को कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता| हालांकि साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि ये बीजेपी का अंदरूनी मामला है, लेकिन उनके इस तरह के बयान को लेकर उन्हें पार्टी से निकालने के लिए विचार करना चाहिए|

Lok Sabha Election 2019 Phase 7 Live : मतदान शुरू, मध्य प्रदेश में अब तक 13% मतदान

कई जगह ईवीएम खराब होने की खबरें सामने आ रहीं

नीतीश (nitish kumar )  ने कहा कि चुनाव में जिस तरह की भाषा का उपयोग किया गया वो लोकतंत्र के लिए ठीक नही है. चुनावी भाषा में मर्यादा होनी चाहिए| नीतीश ने कहा कि कुछ भी हो केंद्र में एनडीए की सरकार ही बनेगी| उसमें जेडीयू भी शमिल होगी. उन्होंने कहा, ‘2019 का लोकसभा चुनाव बहुत लम्बा हुआ, जो ठीक नहीं है| चुनाव के चरण कम होने चाहिए| फरवरी, मार्च या फिर नवंबर और दिसंबर में चुनाव होने चाहिए, क्योंकि अप्रैल और मई में बहुत गर्मी होती है|

इससे मतदाताओं को परेशानी होती है|’सीएम नीतीश ने कहा कि मैं इस पर हर पार्टी अध्यक्ष को पत्र लिखूंगा और इस पर एक बैठक होनी चाहिए| साथ ही नीतीश ने कहा कि बिहार का विशेष राज्य का दर्जा मुद्दा था और रहेगा| उनकी मानें तो बिहार को हर हाल में विशेष राज्य का दर्जा मिलना चाहिए| गौरतलब है कि पीएम मोदी और अमित शाह भी साध्वी के बयान पर नाराजगी जाहिर कर इसे उनका निजी बयान करार दे चुके है| हालांकि साध्वी इस पर माफ़ी मांग चुकी है लेकिन विवाद फ़िलहाल थमता नजर नहीं आ रहा है|

हिन्दू-मुस्लिम की राजनीति में जुटे केजरीवाल ?

Share.