website counter widget

DTH बॉक्स से गायब हुआ ‘NaMoTV’

0

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha election 2019) के दौरान प्रचार के लिए नेताओं ने पूरा दम लगा दिया। भाजपा (Bharatiya Janata Party) ने टीवी से लेकर ऑनलाइन साइट, ट्रेन, फ्लाइट सभी जगह प्रचार करने के लिए कई तरीकें अपनाए थे। चुनाव आयोग (Election Commission of India) द्वारा लगाईं गई आचार संहिता (Model Code of Conduct) के बावजूद भी भाजपा द्वारा टीवी पर प्रचार किया जा रहा था, लेकिन अब चुनाव खत्म होते ही सभी जगह खामोशी आ गई है।

टीवी स्क्रीन पर नजर आने वाला नमो टीवी (‘NamoTV‘) अब गायब हो गया है। पहले सेटटॉप बॉक्स में आने वाला नमो टीवी जिसके लिए भाजपा ने लड़ाई लड़ी थी और उस पर जमकर प्रचार किया वही अब रहस्यमय तरीके से डीटीएच प्लेटफॉर्म से गायब हो गया है। केवल डीटीएच ही नहीं बल्कि अन्य सभी प्लेटफॉर्म से भी चैनल गायब हो गया।

Exit Poll पर आजम खान के बोल

 सूत्रों का कहना है कि यह 17 मई को नमो टीवी (NamoTV) को उस वक्त बंद कर दिया गया जब प्रचार का समय समाप्त हो गया था। इसकी शुरुआत 31 मार्च से हुई थी। शुरुआत से ही चैनल विवादों में रहा है। इसके बाद चुनाव आयोग की शर्तों के साथ चैनल भाजपा का प्रचार करता रहा। एक बीजेपी के नेता ने कहा, ‘‘नमो टीवी (NamoTV) लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी के प्रचार अभियान के माध्यम के रूप में लाया गया। चुनाव खत्म होने के साथ ही इसकी अब कोई जरुरत नहीं है इसलिए 17 मई से जब सारा प्रचार खत्म हो गया तो इसे भी बंद कर दिया गया। ”

Exit poll पर प्रियंका गांधी का मिजाज

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा पहले ही नमो टीवी (NamoTV) पर चुनाव संबंधित खबरें प्रसारित करने के लिए बीजेपी को नोटिस भेजा था, लेकिन तब भाजपा का कहना था कि वे आचार संहिता का उल्लंघन नहीं कर रहे हैं। इसके बाद चुनाव आयोग की ओर  से निर्देश दिया गया था कि नमो टीवी पर दिखाए जाने वाले सभी रिकॉर्डेड कार्यक्रम पूर्व प्रमाणित होने चाहिए।

नमो टीवी (NamoTV) और भाजपा के प्रचार के अन्य तरीकों पर कांग्रेस सहित कई दलों ने सवाल उठाए थे। चुनाव के अंतिम चरण में दिन कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट किया था, “चुनावी बांड और ईवीएम से लेकर चुनाव के कार्यक्रम में छेड़छाड़ तक, नमो टीवी, ‘मोदीज आर्मी’ और अब केदारनाथ के नाटक तक चुनाव आयोग का मिस्टर मोदी और उनके गैंग के समक्ष समर्पण सारे भारतीयों के सामने जाहिर है। चुनाव आयोग का डर रहता था और उसका सम्मान होता था, अब नहीं रहा। ”

शरद पंवार का पीएम पर तंज

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.