website counter widget

नीतीश कुमार को लेकर गुलाम नबी आजाद का खुलासा

0

लोकसभा चुनाव (loksabha election) अपने अंतिम दौर में है और इस बीच जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद (ghulam nabi azad) ने कहा है कि 23 मई को चुनाव परिणाम आने के बाद नीतीश कुमार (nitish kumar) सरीखे कुछ नेताओं की मदद से केंद्र में गैर बीजेपी (bjp) सरकार बनाई जा सकती है| आजाद ने कहा, बिहार के सीएम नीतीश कुमार (nitish kumar)  गैर बीजेपी सरकार बनाने में अहम रोल अदा कर सकते हैं| गुलाम नबी आजाद ने बुधवार को पटना में मीडिया से बात करते हुए कहा नीतीश कुमार की भूमिका सरकार बनाने में अहम् है| गुलाम नबी आजाद (ghulam nabi azad) ने पटना में कहा कि नीतीश कुमार (nitish kumar) कुछ मजबूरी के कारण एनडीए में गए| नीतीश कुमार जैसे कुछ और लोग भी हैं, जिनकी विचारधारा बीजेपी से नहीं मिलती है| कुछ लोग या सत्ता पाने या फिर किसी मजबूरी के कारण बीजेपी के साथ हैं| शायद इन दोनों कारणों में से कोई एक कारण है जो नीतीश कुमार (nitish kumar)  सरीखे नेताओं को बीजेपी से जोड़े रखा है| मैं पूरे देश में अपने चुनाव प्रचार के अनुभव के आधार पर कह सकता हूं कि नरेंद्र मोदी (narendra modi) दोबारा से पीएम नहीं बनने जा रहे हैं|’

 लोकसभा चुनाव 2019 (loksabha election 2019) के सातवें चरण का मतदान 19 मई को होना है| इस बीच दांव पेच की सियासत का खेल शुरू होता दिख रहा है| सरकार बनाने और बिगाड़ने की रणनीति पर काम शुरू हो गया है| विपक्षी पार्टियों में इसके लिए ज्यादा उत्सुकता है क्योकि चुनाव के पहले जिस महागठबंधन (mahagathbandhan ) की कल्पना की जा रही थी वह बनता दिखा नहीं| ऐसे में चुनाव के बाद सभी अपने पत्ते खोलने से पहले एक दूसरे को टटोल रहे है|इसी क्रम में तेलांगना के सीएम चंद्रशेखर राव ने कहा है कि वह माइनस राहुल गांधी (rahul gandhi) कांग्रेस नेतृत्व स्वीकार ने को तैयार हैं|

एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार (sharad panwar )कहते हैं, ‘अगर राष्ट्रपति बीजेपी को सरकार बनाने के लिए बुलाते भी हैं तो वह सदन में अपना बहुमत सिद्ध नहीं कर सकेगी| मोदी सरकार का भी हश्र वही होगा, जो 1996 में अटल बिहारी वाजपेयी की 13 दिन की सरकार का हुआ था|’ बुधवार को पटना में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद (ghulam nabi azad) के बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर दिए बयान के बाद तो कांग्रेसी नेताओं की हलचल बढ़ गई है वहीँ फ़िलहाल नीतीश कुमार एनडीए का साथ छोड़ें ऐसे आसार कम ही नजर आ रहे है|

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.