website counter widget

image1

image2

image3

image4

image5

image6

image7

image8

image9

image10

image11

image12

image13

image14

image15

image16

image17

image18

चुनाव आयोग से किडनी बेच चुनाव लड़ने की अनुमति मांगी

0

राजनीति एक लत की तरह है| एक बार किसी को इसका चस्का लग जाता है तो वह इससे दूर नहीं रह पाता है| जनता की भीड़ और राजनीति की चकाचौंध से वह इस कदर जुड़ चुका होता है कि उसे बिना उसके अधूरा लगता है| लालकृष्ण आडवाणी, मुरलीमनोहर जोशी जैसे दिग्गज राजनीति से दूर होकर अकेलापन पचा नहीं पा रहे हैं| जो एक बार सियासत की दुनिया में आ गया, वह चुनाव जीतने औऱ टिकट पाने के लिए कई तरह के हथकंडे (Independent Candidate Wants To Sell His Kidney ) अपनाता है। ऐसा ही मामला मध्यप्रदेश के बालाघाट से सामने आया है| चुनाव लड़ने के जुनून में यहां के पूर्व विधायक ने अपनी किडनी बेचकर चुनाव लड़ने की अनुमति मांगी है।

योगी और मायावती नहीं कर सकेंगे चुनाव प्रचार : चुनाव आयोग

Image result for kishore samrite

दरअसल, बालाघाट लोकसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे किशोर समरीते ( Kishore Samrite) ने चुनाव आयोग को लेटर लिखकर अपनी किडनी बेचने की बात कही (Independent Candidate Wants To Sell His Kidney ) है। उन्होंने चुनाव लड़ने के लिए निर्वाचन आयोग से रुपयों की मांग की है। उन्होंने अपने लेटर में लिखा है कि मेरे पास चुनाव लड़ने के लिए 75 लाख रुपए नहीं हैं। 75 लाख रुपए या तो मुझे चुनाव आयोग उपलब्ध करवाए या फिर मुझे दो में से एक किडनी बेचने की अनुमति दे। कलेक्टर कार्यालय में भारत निर्वाचन आयोग के नाम दिए गए पत्र में समरीते ने कहा है कि लोकसभा चुनाव की व्यय सीमा 75 लाख रुपए है, लेकिन इतना महंगा चुनाव लड़ने के लिए उनके पास रुपए नहीं हैं। उनके विरुद्ध लड़ने वाले उम्मीदवार करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं। इस कारण उन्होंने चुनाव आयोग से वित्तीय सहायता मांगी है।

आज़म के खिलाफ सपा, ….द्रौपदी का चीरहरण हो रहा है

क्या लिखा है लेटर में (Independent Candidate Wants To Sell His Kidney)

किशोर समरीते ने लिखा, “मैं बालाघाट लोकसभा क्षेत्र क्रमांक 15 से निर्दलीय उम्मीदवार हूं। मेरा चुनाव चिन्ह कप-प्लेट है। चुनाव आयोग की लोकसभा चुनाव में अधिकतम व्यय सीमा 75 लाख रुपए है। मेरे पास इतने पैसे नहीं है, मैं शपथ-पत्र में भी इसका खुलासा कर चुका हूं। मेरे खिलाफ चुनाव लड़ने वाले सभी उम्मीदवार करोड़पति हैं और उनके समर्थक करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं। चुनाव प्रचार के लिए अब 15 दिन शेष बचे हैं| इतनी राशि जनसहयोग से नहीं जुटाई जा सकती है इसलिए चुनाव आयोग से अनुरोध है कि वे मुझे 75 लाख रुपए की वित्तीय सहायता करें या फिर मुझे बैंकों से लोन दिलवाएं या मुझे अपनी दो में से एक किडनी बेचने की अनुमति दें।“

election

किशोर समरीते ने अपने लेटर में लिखा है, “सीबीआई ने मेरे घर में भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और राहुल गांधी के निर्देश पर तलाशी ली थी, जिसमें सीबीआई को मात्र 2500 रुपए मिले थे।“

video : पीएम ने  करवाया पुलवामा हमला!

किशोर समरीते बालाघाट जिले की लांजी विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी के टिकट पर विधायक रह चुके हैं। उन्होंने जेल में रहते हुए चुनाव जीता था। इनके खिलाफ हत्या का मामला था, बाद में कोर्ट ने जिन्हें बरी कर दिया था।

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News 

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
Loading...
Share.