website counter widget

आपबीती सुनाते हुए प्रज्ञा की आंख से निकले आंसू

0

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कांग्रेस ने अपने कद्दावर नेता दिग्विजय सिंह को चुनावी मैदान में उतार दिया। हालांकि राजधानी भोपाल शुरू से ही भाजपा का गढ़ मानी जाती रही है। भाजपा के इस किले को भेदने के लिए कांग्रेस ने दिग्विजय पर दांव खेला है। इसके बाद भाजपा ने दिग्विजय के सामने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को मैदान में खड़ा कर दिया। जीत से आश्वस्त नजर आ रहे दिग्विजय सिंह और सूबे के मुख्यमंत्री कमल नाथ के चेहरे का रंग साध्वी प्रज्ञा के उतारे जाने से फीका नजर आ रहा है।

साध्वी प्रज्ञा

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को कांग्रेस के शासनकाल के दौरान मालेगांव ब्लास्ट में आरोपी करार दिया गया था। इसके बाद साध्वी प्रज्ञा को कई साल तक जेल की सजा भी काटनी पड़ी। हालांकि बाद में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया। अभी साध्वी प्रज्ञा जमानत पर बहार हैं। भाजपा में शामिल होने के अगले दिन ही उन्हें पार्टी की तरफ से भोपाल लोकसभा सीट से दिग्विजय सिंह के सामने उतार दिया गया। जब प्रज्ञा ठाकुर जेल में सजा काट रही थी तब उनके साथ जानवरों से भी बदतर सलूक किया गया। यह बात खुद साध्वी प्रज्ञा ने कही। भाजपा उम्मीदवार बनाए जाने के बाद बुधवार को साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने पहली बार स्थानीय लोगों को सम्बोधित किया।

Image result for BJP candidate pragya thakur cry

सभा को सम्बोधित करते हुए साध्वी ने उन पर हुए अत्याचार और पुलिस यातनाओं के बारे में बात की। पुलिस द्वारा दी गई यातनाओं का जिक्र कर साध्वी प्रज्ञा भावुक हो उठी। उनकी आंख से अश्रु बह निकले। साध्वी ने आसूं पूछ कर अपनी बात पूरी की। इस दौरान उन्होंने कहा कि जेल में उन्हें दिन-रात पीटा जाता था। पिटाई के दौरान पुलिस वाले उन्हें गंदी-गंदी गलियां भी देते थे। उन्होंने कहा कि कोई भी महिला कभी भी जीवन में इस तरह की यातना न सहे। प्रज्ञा ने कहा कि, पुलिस उनसे यह जबरदस्ती कबूल करवाना चाहते थे कि, ब्लास्ट उन्होंने ही किया है। उन्होंने कहा कि, कई बार पिटते-पिटते सुबह हो जाती थी। उन्होंने बताया कि पीटने वाले लोग बदल जाते थे लेकिन पिटने वाली हमेशा सिर्फ वही अकेली होती थी।

गौरतलब है कि साल 2008 में सितम्बर माह में मालेगांव में हुए बम धमाके के मामले में साध्वी को हिरासत में लिया गया था। लेकिन साल 2017 के अप्रैल माह में उन्हें जमानत दी गया। यह जमानत मुंबई हाई कोर्ट ने एनआईए के एतराज न करने पर दी। फिलहाल साध्वी जमानत पर बाहर चल रही हैं। भाजपा द्वारा प्रत्याशी बनाए जाने पर साध्वी प्रज्ञा को कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर बधाई दी और उनका स्वागत किया। बता दें कि साल 1984 के बाद से लगातार मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल पर भाजपा का परचम लहराता रहा है। भोपाल भाजपा का सबसे मजबूत किला है। अब दिग्विजय के सामने साध्वी प्रज्ञा के आ जाने के कारण यह मुकाबला और भी दिलचस्प हो गया है।

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
Loading...
Share.