OMG !!! भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का इस्तीफा

0

लोकसभा चुनाव (lok sabha election 2019) में भारी बहुमत हासिल करने के बाद अब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (BJP President Amit Shah Resign From Rajyasabha ) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने भाजपा अध्यक्ष के पद से नहीं बल्कि राज्यसभा से इस्तीफा दिया। शाह के साथ ही केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (BJP leader Ravi Shankar Prasad) और डीएमके नेता कनिमोझी (DMK Leader Kanimozhi ) ने भी राज्यसभा सदस्यता से इस्तीफा (resign as Rajya Sabha members)  दे दिया है।

पीएम के शपथ ग्रहण में बंगाल के ख़ास मेहमान

पीएम मोदी इमरान खान का नहीं उठाते फोन

अमित शाह पहली बार लोकसभा पहुंचे हैं, उन्होंने गांधीनगर लोकसभा सीट से जीत दर्ज की है।  वहीँ बिहार की पटना साहिब सीट से रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा को हराया है। शाह अगस्त 2017 में संसद के उच्च सदन राज्यसभा के लिए निर्वाचित हुए थे।  उन्होंने अपना पहला लोकसभा चुनाव गांधीनगर से जीता है। अमित शाह ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। उनकी मुलाक़ात के बाद कहा गया कि दोनों नेताओं ने नई सरकार के गठन की बारीकियों पर चर्चा की। नई सरकार में मंत्रिपरिषद को गुरूवार को शपथ दिलाई जाएगी।

महाजन की सेवाओं का फल राष्ट्रपति पद !

जानकारी के अनुसार ऐसा कहा जा रहा है कि केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के स्थान पर लोजपा नेता रामविलास पासवान को राज्यसभा भेजा जा सकता है। इसके पहले उन्हें बिहार से नहीं आसाम से भेजा जाना तय किया गया था, लेकिन अब वे बिहार से ही राजयसभा जा सकते हैं। ऐसा भी कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में जेडीयू और शिवसेना के कोटे से 2-2 मंत्री शामिल होंगे। इनमें एक कैबिनेट और एक स्वतंत्र प्रभार का पद होगा। इसके अलावा अकाली दल से एक कैबिनेट मंत्री, अपना दल से अनुप्रिया पटेल को जगह मिलेगी।

अरुण जेटली ने PM मोदी को लिखी चिट्ठी

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख अपील की है कि उन्हें मंत्री बनाने का विचार ना किया जाए। अपने पत्र में जेटली ने लिखा है कि पिछले 18 महीने से उनकी तबीयत खराब है ऐसे में वह जिम्मेदारी को नहीं निभा पाएंगे। इसलिए उन्हें मंत्री बनाने पर कोई विचार ना करें।

 

Share.