website counter widget

Ratlam : सुबह 6 बजे से ही लग गई मतदाताओं की कतार

0

लोकसभा चुनाव 2019 (Ratlam Lok Sabha Election 2019 Live) के लिए आज आखिरी चरण का मतदान किया जा रहा है। इस आखिरी चरण के मतदान में रतलाम जिले की 3 संसदीय सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं। देश के इस महोत्सव में लोग बढ़-चढ़ का हिस्सा ले रहे हैं। लोकतंत्र के इस सबसे बड़े महापर्व में अपना योगदान देने के लिए लोगों में काफी उत्साह देखा जा रहा है। अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए सुबह 6 बजे से ही लोग मतदान केंद्र पहुंच गए थे।

Lok Sabha Election 2019 Phase 7 Live : बंगाल-पंजाब में हिंसा, अब तक 25% मतदान

Ratlam Lok Sabha Election 2019 Live :

गौरतलब है कि इस बार मतदान की प्रक्रिया सुबह 7 बजे से प्रारम्भ की जानी थी, लेकिन लोग सुबह 6 बजे से ही मतदान केंद्र पहुंच गए। मतदाता पोलिंग बूथ पर कतार लगा कर अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। सुबह से मौसम भी काफी अनूकुल रहा जिसने मतदातों के उत्साह को और भी बढ़ा दिया। हालांकि सबसे ज्यादा जोश पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं में देखने को मिला। पहली बार मतदान करने के बाद युवाओं ने सेल्फी ली और अपनी ख़ुशी जाहिर की। हालांकि इस बीच कई जगह पर ईवीएम में खराबी की भी खबर सामने आई लेकिन उन्हें जल्द ही बदल दिया गया। रतलाम-झाबुआ संसदीय सीट से जुड़ी तीनों लोकसभा सीटों रतलाम ग्रामीण, रतलाम शहर और सैलाना पर शांतिपूर्ण तरीके से मतदान जारी है।

सदन से जुड़ा अजीब इत्तेफाक़: जो लोकसभा स्पीकर बना वो…….

हालांकि कुछ मतदान केंद्रों पर ईवीएम और वीवीपैट में आई खराबी की वजह से मतदान प्रभावित हुआ। कनेरी के मतदान केंद्र क्रमांक 110 पर मशीन के खराब हो जाने के बाद तत्काल ही रतलाम से नई EVM मशीन मंगवाई गई। इसके बाद दोबारा मतदान प्रक्रिया आरम्भ की गई। सैलाना के जूनावास मतदान केंद्र क्रमांक-16 में वीवीपैट में खराबी आ जाने के कारण मतदातों को काफी देर तक अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा। मिली जानकारी के अनुसार शहर के पोलिंग बूथ की तुलना में ग्रामीण क्षेत्र के मतदान केंद्र पर ज्यादा उत्साह देखने को मिल रहा है।

नीतीश कुमार ने की साध्वी को बाहर निकालने की पैरवी

रतलाम लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया मैदान में हैं। वे 5 बार के सांसद हैं और सातवीं बार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। कांतिलाल भूरिया के विजयी रथ को रोकने के लिए भाजपा ने इस बार जी तोड़ मेहनत की है। भाजपा ने कांतिलाल के सामने गुमानसिंह (जीएस) डामोर को चुनावी मैदान में उतारा है। गुमानसिंह साल 2018 में पहली बार झाबुआ सीट से विधायक चुने गए थे। राजनीति के क्षेत्र में जहां कांतिलाल को एक लंबे अरसे का अनुभव है तो वहीं गुमानसिंह नए-नए हैं। ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि आखिर गुमानसिंह कांतिलाल को कितनी कड़ी टक्कर देते हैं।

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.