Hindi Kahani : कमजोर आदमी के आंसू का कतरा है ….

0

एक बार एक शिष्य ने मुल्ला अब्बास बगदादी से पूछा की प्रलय क्या है ? क्या प्रलय बहुत बड़ी बला होती है? इसमें सारे संसार को खत्म करने की ताकत होती है? क्या आप बता सकते हैं कि प्रलय होता क्या है? ‘ शिष्य के प्रश्न को ध्यान से सुनकर मुल्ला अब्बास बगदादी ने कहा कि ‘ तुम्हारा कहना सही है कि प्रलय बहुत बड़ी बला होती है| देखते हैं तुम्हारे सवाल का इनमे से कौन जवाब देता है | उन्होनें दूसरे शिष्यों की ओर इशारा किया |

एक शिष्य ने कहा कि ‘ मेरी नजर में खुदा के प्रति इंसान के अपराध ही प्रलय की वजह है|’ दूसरे ने कहा कि ‘ जब इंसान के जुल्मों को धरती झेल नहीं पाती है तो खुदा प्रलय के जरिए इसको धोता है| तीसरे शिष्य ने कहा कि ‘ कमजोर आदमी के आंसू का एक कतरा ही प्रलय की असली वजह है। ‘मुल्ला अब्बास बगदादी ने सभी शिष्यों की बातों को सुना और कहा कि ‘ यह सही है कि कमजोर आदमी की आंखों से निकलने वाले आंसू ही प्रलय की वजह है| इसलिए किसी भी कमजोर आदमी के दुख-दर्द यदि हम दूर नहीं कर सकते हैं तो उसको किसी भी तरह की तकलीफ तो देनी ही नहीं चाहिए|

निसहाय इंसान इतना लाचार होता है कि वह कष्टों को सिर्फ सहन करता रहता है और उसके मुंह से एक शब्द भी नहीं निकलता है, इसलिए उनकी लाचारी उनका दुख उनकी आंखों से आंसूओं के जरिए निकलता है| खेर प्रलय का कारण जो भी हो मगर प्रसंग का आशय यह भी है कि कोशिश करें की आप किसी की आँखों में आंसू का कारण कभी न बने (Don’t Hurt Anyone ) |अभिषेक|

Hindi Kahani : अनपढ़ के आगे डॉक्टर-इंजीनियर नतमस्तक

Hindi Kahani : अपनी ख़ुशी की अहमियत

अवसर का चित्र

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

 

Share.