Motivational Story: अपनी तुलना दूसरों से न करें, देखें Video

0

(Don’t Compare Yourself To Others) दोस्तों आप जब कुछ गलत कर देते है या फिर परीक्षा (exam) में आपका परिणाम ख़राब आ जाता है तो आपके अक्सर आपके माता पिता आपके पड़ोसियों के बच्चों से तुलना करते है देखो शर्मा जी के बेटे का रिजल्ट और तुम अपना देखों इसके अलावा जब आप भी किसी को अपने से अलग या सुन्दर देखते है तो आपके दिल में इच्छा आती है की मै ऐसा क्यों नहीं हूँ और कभी कभी तो आप वैसा बनने की कोशिश भी करने करने लगते है इससे होता यह है की आप जो हो वैसे भी नहीं रहते और उसके जैसे भी नहीं बन पाते एक कहावत है हर किसी को दूसरे की थाली में ज्यादा घी नजर आता है ठीक ऐसा ही आपके जीवन में भी होता है। जबकि आप खुद में जैसे है परफेक्ट होते है चलिए इसी से जुडी हुई एक कहानी मैं आपको सुनाने जा रहा हूँ जो शायद आपको एहसास दिलाये की आप जैसे भी है बेहतर है।

Hindi Comedy Story -बिन बुलाये मेहमान

(Don’t Compare Yourself To Others) एक बार की बात है, किसी जंगल में एक कौवा रहता था, वो बहुत ही खुश था, क्योंकि उसकी ज्यादा इच्छाएं नहीं थीं। वह अपनी जिंदगी से संतुष्ट था, लेकिन एक बार उसने जंगल में किसी हंस को देख लिया और उसे देखते ही कौवा सोचने लगा कि ये प्राणी कितना सुन्दर है, ऐसा प्राणी तो मैंने पहले कभी नहीं देखा! इतना साफ और सफेद। यह तो इस जंगल में औरों से बहुत सफेद और सुंदर है, इसलिए यह तो बहुत खुश रहता होगा।

Motivational Story : रुको मत अजय! आगे बढ़ते रहो…

Don't Compare Yourself To Others | Motivational Story

कौवा हंस के पास गया और पूछा, भाई तुम इतने सुंदर हो, इसलिए तुम बहुत खुश होगे? (Don’t Compare Yourself To Others)
इस पर हंस ने जवाब दिया, हां मैं पहले बहुत खुश रहता था, जब तक मैंने तोते को नहीं देखा था। उसे देखने के बाद से लगता है कि तोता धरती का सबसे सुंदर प्राणी है। हम दोनों के शरीर का तो एक ही रंग है लेकिन तोते के शरीर पर दो-दो रंग है, उसके गले में लाल रंग का घेरा और वो सूर्ख हरे रंग का था, सच में वो बेहद खूबसूरत था। अब कौवे ने सोचा कि हंस तो तोते को सबसे सुंदर बता रहा है, तो फिर उसे देखना होगा।

Don't Compare Yourself To Others | Motivational Story

कौवा तोते के पास गया और पूछा, भाई तुम दो-दो रंग पाकर बड़े खुश होगे? (Don’t Compare Yourself To Others)
इस पर तोते ने कहा, हां मैं तब तक खुश था जब तक मैंने मोर को नहीं देखा था। मेरे पास तो दो ही रंग हैं लेकिन मोर के शरीर पर तो कई तरह के रंग हैं।

Don't Compare Yourself To Others | Motivational Storyअब कौवे ने सोचा सबसे ज्यादा खुश कौन है, यह तो मैं पता करके ही रहूंगा। इसलिए अब मोर से मिलना ही पड़ेगा। कौए ने मोर को जंगल में ढूंढा लेकिन उसे पूरे जंगल में एक भी मोर नहीं मिला और मोर को ढूंढते-ढूंढते वह चिड़ियाघर में पहुंच गया, तो देखा मोर को देखने बहुत से लोग आए हुए हैं और उसके आसपास अच्छी खासी भीड़ है। (Don’t Compare Yourself To Others)

सब लोगों के जाने के बाद कौवे ने मोर से पूछा, भाई तुम दुनिया के सबसे सुंदर जीव हो और रंगबिरंगे हो, तुम्हारे साथ लोग फोटो खिंचवा रहे थे। तुम्हें तो बहुत अच्छा लगता होगा और तुम तो दुनिया के सबसे खुश जीव होगे?
इस पर मोर ने दुखी होते हुए कहा, भाई अगर सुंदर हूं तो भी क्या फर्क पड़ता है! मुझे लोग इस चिड़ियाघर में कैद करके रखते हैं, लेकिन तुम्हें तो कोई चिड़ियाघर में कैद करके नहीं रखता और तुम जहां चाहो अपनी मर्जी से घूम-फिर सकते हो। इसलिए दुनिया के सबसे संतुष्ट और खुश जीव तो तुम्हें होना चाहिए, क्योंकि तुम आज़ाद रहते हो। कौवा हैरान रह गया, क्‍योंकि उसके जीवन की अहमियत कोई दूसरा बता गया। (Don’t Compare Yourself To Others)
दोस्तों, ऐसा ही हम लोग भी करते हैं। हम अपनी खुशियों और गुणों की तुलना दूसरों से करते हैं, ऐसे लोगों से जिनका रहन-सहन का माहौल हमसे बिलकुल अलग होता है। हमारी जिंदगी में बहुत सारी ऐसी चीज़ें होती हैं, जो केवल हमारे पास हैं, लेकिन हम उसकी अहमियत समझकर खुश नहीं होते। लेकिन दूसरों की छोटी ख़ुशी भी हमें बड़ी लगती है, जबकि हम अपनी बड़ी खुशियों को इग्नोर कर देते हैं।

Emotional Story : मेरे पापा को मिट्टी मत कहो

-Mradul tripathi

Share.