ज़िन्दगी के पत्थर, कंकड़ और रेत

0

एक प्रोफेसर ने कुछ चीजों के साथ क्लास में प्रवेश किया| जब क्लास शुरू हुई तो उन्होंने एक बड़ा सा खाली शीशे का जार लिया और उसमे पत्थर के बड़े-बड़े टुकड़े भरने लगे| फिर उन्होंने स्टूडेंट्स से पूछा कि क्या जार भर गया है ? और सभी ने कहा “हाँ”.|तब प्रोफ़ेसर ने छोटे-छोटे कंकडों से भरा एक बॉक्स लिया और उन्हें जार में भरने लगे| जार को थोडा हिलाने पर ये कंकड़ पत्थरों के बीच सेटल हो गए| एक बार फिर उन्होंने छात्रों से पूछा कि क्या जार भर गया है? और सभी ने हाँ में उत्तर दिया|

तभी प्रोफेसर जार में रेत डालने लगे| रेत ने बची-खुची जगह भी भर दी और एक बार फिर उन्होंने पूछा कि क्या जार भर गया है? और सभी ने एक साथ उत्तर दिया , ” हाँ” | फिर प्रोफेसर ने समझाना शुरू किया, ” मैं चाहता हूँ कि आप इस बात को समझें कि ये जार आपकी लाइफ को रिप्रेजेंट करता है| बड़े-बड़े पत्थर आपके जीवन की ज़रूरी चीजें हैं- आपकी फॅमिली,आपका पार्टनर ,आपकी हेल्थ, आपके बच्चे – ऐसी चीजें कि अगर आपकी बाकी सारी चीजें खो भी जाएँ और सिर्फ ये रहे तो भी आपकी ज़िन्दगी पूर्ण रहेगी|

ये कंकड़ कुछ अन्य चीजें हैं – जैसे कि आपकी नौकरी,घर, इत्यादि| और ये रेत बाकी सभी छोटी-मोटी जरूरते है | आप जार को पहले रेत से भर देंगे तो कंकडों और पत्थरों के लिए कोई जगह नहीं बचेगी| यही आपकी लाइफ के साथ होता है| अगर आप अपनी सारा समय और उर्जा छोटी-छोटी चीजों में लगा देंगे तो आपके पास कभी उन चीजों के लिए टाइम नहीं होगा जो आपके लिए इम्पोर्टेन्ट हैं| उन चीजों पर ध्यान दीजिये जो आपकी हैप्पीनेस के लिए ज़रूरी हैं| अपनी प्राथमिकताएं समझिये बाकी चीजें बस रेत हैं| ”

अभिषेक

शब्द वापस नहीं आते

Motivational Story : इनकी कीमत दो आने….

Motivational Story : मैं बहरा था, बहरा हूँ और बहरा रहूँगा!

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.