Hindi Kahani : वाणी, आपके व्यक्तित्व का दर्पण

0

एक राजा शिकार के लिए जंगल गया | उसके मंत्री और सेवकों भी थे | राजा ने एक जगह घने जंगल में डेरा डाला और सेवको से पानी लेन के लिए कहा | नजदीक ही एक कुआं था जहा एक अँधा वृद्ध यात्रियों को जल पीला रहा था | सेवक भी जल लाने के लिए उस नेत्रहीन वृद्ध के पास पहुंचे | सेवकों ने वृद्ध को आदेश दिया और कहा कि ‘ ओ पनिहारे एक लोटा जल जल्दी से इधर भी देना। ‘ नेत्रहीन वृद्ध ने कहा कि ‘ जा भाग जा तेरे जैसे मूर्ख सेवक को कोई भी पानी नहीं देगा। कोई वृक्ष भी तुझको फल नहीं देगा, फल तो क्या तेरे जैसे को वृक्ष छाया भी नहीं देगा। ‘

गुस्से में आग बबूला हुए सिपाही ने सेना नायक को सारी बात बताई। नायक ने जब यह सुना तो वह स्वयं उस कुएं पर गया और नेत्रहीन वृद्ध से कहा कि ‘अंधे भाई जल्दी से एक लोटा जल देना, हमको आगे कहीं जाना है। ‘ सेवक के सरदार की आवाज में भी काफी तल्खी थी इसलिए नेत्रहीन वृद्ध ने उसको भी पानी देने से मना कर दिया और कहा कि ‘ कपटी मीठा बोलता है लगता है तू पहले वाले सेवक का सरदार है। मेरे पास तेरे लिए भी पानी नहीं है। ‘

अब बात प्यासे राजा तक पहुंची | सरदार ने जब राजा को सारा किस्सा सुनाया तो राजा स्वयं सेवक और सरदार को लेकर नेत्रहीन वृद्ध के पास कुएं पर गए | राजा ने उन्हें नमस्कार करके कहा कि ‘ बाबाजी प्यास से गला सूखा जा रहा है, यदि थोड़ा पानी दे देंगे तो आपकी बड़ी कृपा होगी, मेरी प्यास बुझ जाएगी। ‘ नेत्रहीन वृद्ध ने कहा कि ‘ महाराज आप बैठिए अभी जल पिलाता हू्। ‘ इतना कहकर उसने राजा को आदरपूर्वक बिठाया और पिने के लिए पानी दिया | पानी पीने के बाद राजा ने नेत्रहीन वृद्ध से पूछा की ‘ बाबा आपने कैसे जाना कि पहले आने वाले सेवक और सरदार थे और मैं राजा हूं। ‘ तब नेत्रहीन वृद्ध ने कहा कि ‘ इंसान को पहचानने के लिए आंखों की जरूरत नहीं होती है उसकी वाणी के वजन से उसकी परख हो जाती है। ‘

कहानी का सार यह है कि आपकी वाणी आपके व्यक्तित्व का दर्पण है | मीठी वाणी से जग जीता जा सकता है, जबकी कड़वी बोली से आप एक लौटा जल तक के लिए तरस सकते है| आप किसी भी पद पर हो कितने ही बड़े और धनी हो वाणी हमेशा मीठी बोलिये | कहते है न – –  ऐसी बानी बोलिए, मन का आपा खोय ||औरन को शीतल करै, आपहु शीतल होय ||

Hindi Kahani : बुराई करने का मज़ा

Hindi Kahani : उस खरोंच के मायने

Hindi Kahani : इससे मार्मिक कहानी शायद ही आपने कभी पढ़ी हो?

अभिषेक

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.