website counter widget

चुनाव से आगे अब क्या ?

0

युवाओं को काम, देश को राम, किसानों को दाम, सेना को आराम, आतंकियों को अंजाम, शिक्षा और स्वास्थ्य का उचित दाम, भारत को बड़ा नाम और भी है ऐसे ही कुछ काम जो आने वाली सरकार की यथावत चुनौतियां है| मुद्दे जो भले ही चुनाव में गायब थे फिर से अस्तित्व में आएंगे | बहरहाल आएगा तो मोदी ही| मोदी है तो मुमकिन है| फिर एक बार, मोदी सरकार | मैं भी चौकीदार | नमो अगेन | एक-एक बात सही साबित हो रही है | एग्जिट पोल में | और घबराहट बढ़ रही है विपक्ष के खेमे में | पैसा वसूल मनोरंजक चुनाव प्रचार और मतदान के बाद इंतजार है चुनाव परिणामों का| एग्जिट पोल (Exit Poll Result 2019) बीजेपी और NDA के साथ खड़े है और विपक्ष इन्हे नकार कर अपनी जिम्मेदारी निभा रहा है | ऐसे में मोदी पहाड़ों में सुकून की तलाश कर अटेंशन पा रहे है और विपक्ष एकजुट होने के लिए जोड़तोड़, बैठक और चर्चाएं कर रहा है|

मूर्तियों की आत्माएं सोच रही होगी?

एग्जिट पोल  (Exit Poll Result 2019) और परिणामों के बिच का समय बड़ा कठिन है | काटे न कटेगा | इसके आगे का सिन हम आपको दिखाते है| परिणाम के बाद क्या | वहीँ शपथ ग्रहण और खुद पर यकीन होने की बात | खुद के दावे को दोहराते विजेता पक्ष के नेता हर टीवी चैनल पर एंकर को भी बोलने का मौका नहीं देंगे | वही टीवी चैनल खुद के एग्जिट पोल की सटीकता की दुहाई दिन में अनगिनत बार देगा | बुरा हाल होगा विपक्ष का | तमाम तामझाम के साथ जी तोड़ कवायद के बाद अब किसी कोने में बैठे विपक्षी दिग्गज पहले तो मुँह ही नहीं दिखाएंगे फिर औपचारिकता वश उनका वहीँ सालों पुराना डायलॉग मीडिया के लिए मिलेगा| जनता जनार्दन का फैसला हमें स्वीकार है| कुछ कमियां रह गई जिन्हें जल्द ही सुधार लिया जायेगा, चुनाव परिणामों की समीक्षा की जाएगी और कड़े कदम उठाये जायेंगे | मजबूत विपक्ष की भूमिका में हम सदा देश की जनता की आवाज बन कर सदन में रहेंगे | चुनाव आयोग से शिकायत भी जाहिर सी बात होगी| EVM और विजेता की कमियों पर एक आखरी बार फिर प्रकाश डाला जायेगा जो मन से नहीं मज़बूरी से होगा |

व्यंग्य: मीडिया की उम्मीदें टूटी, मुंह से एक बात न फूटी

दूसरी ओर बधाइयों और स्वागत का सिलसिला अनवरत कई दिनों तक चलेगा क्योंकि काम करने के लिए तो पांच साल पड़े है| काम से याद आया आने वाली सरकार को यह पता हो की उन्हें इस बार जनता ने सही में काम करने के लिए चुना है सो मजे -मजे में असलियत से दूर जाना किसी की भी सेहत के लिए गलत हो सकता है| मुद्दे जो भले ही चुनाव में गायब थे फिर से अस्तित्व में आएंगे ऐसे में सावधान सरकार ही देश को आगे ले जाएगी और विपक्ष के लिए फ़िलहाल एक स्लोगन है अपना टाइम आएगा,,,,,,,,,

व्यंग्य : सत्ता और शादी में समानता

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.