सेक्स के दौरान क्यों आने लगती है महिलाओं की वेजाइना से फ़िशी स्मेल

0

सेक्स के दौरान पार्टनर की स्मेल कई कपल्स और भी ज्यादा एक्साइट कर देती है। हालांकि पार्टनर की स्मेल का भी सेक्स में काफी योगदान होता है। सेक्स हर किसी की लाइफ का अभिन्न अंग होता है। शादीशुदा जिंदगी में सेक्स एक बेहद ही अहम भूमिका निभाता है। सेक्स से एक तरफ जहां रिश्तों में मजबूती आती है वहीं दोनों पार्टनर की भावान्त्मकता प्रगाढ़ होती है। कई बारे कपल्स जब एक दूसरे के नज़दीक जाते हैं तो पार्टनर की स्मेल से ही उत्तेजित हो जाते हैं। लेकिन जब प्राइवेट पार्ट से स्मेल आए इसे अनदेखा नहीं किया जा सकता।

जिस तरह कई बार पुरुषों के प्राइवेट पार्ट से स्मेल आती है ठीक उसी तरह महिलाओं के प्राइवेट पार्ट से स्मेल आती है। अगर महिलाओं के प्राइवेट पार्ट से फिशी स्मेल आए तो यह गंभीर इंफेक्शन की तरफ इशारा करती है। यह स्मेल पार्टनर का मूड तो ऑफ करती ही है लेकिन यह महिलाओं के लिए गंभीर समस्या भी बन सकती है। न्यू यॉर्क की एक गाइनकॉलोजिस्ट बताते हैं कि अगर महिलाओं की योनि से मछली जैसी बदबू आए तो यह बैक्टीरियल वजाइनोसिस (Bacterial vaginosis)या फिर ट्राइकोमोनिएसिस का संकेत हो सकता है।

गाइनकॉलोजिस्ट का कहना है कि ऐसी स्थिति निर्मित होने पर बिना कॉन्डम के सेक्स करने पर प्राइवेट पार्ट से फिश जैसी स्मेल आने लगती है। उन्होंने बताया कि महिलाओं की योनि में जब बैक्टीरियल इन्वाइरनमेंट में परिवर्तन होता है तो उनके पीएच (PH) लेवल में काफी अंतर आता है और यही इस स्मेल का कारण बनता है।

इतना ही नहीं कई बार ग्रे रंग का झागदार डिस्चार्ज भी होता है। डॉक्टर की सलाह है कि इस स्थिति में सम्भोग नहीं करना चाहिए और किसी गाइनकॉलोजिस्ट से परामर्श लेना चाहिए। इस दौरान जरा सी लापरवाही खतरनाक साबित हो सकती है।

Share.