website counter widget

सेक्स के बाद भी महिलाएं क्यों रहती हैं असंतुष्ट

0

संभोग का सही आनंद तभी लिया जा सकता है जब दोनों पार्टनर आपसी सहमति के साथ शारीरिक संबंध बनाएं। जब दोनों पार्टनर शारीरिक व मानसिक तौर पर आपस में संबंध बनाते हैं तभी वे चरम सुख प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन एक बात का ध्यान रखें कि यदि दोनों पार्टनर्स ऑर्गेज्म (Orgasm) का आनंद लेना चाहते हैं तो उन्हें तनाव मुक्त होना बेहद जरूरी है। हालांकि शोध में सामने आया है कि महिला और पुरुष की सेक्स से जुड़ी इच्छाएं अलग-अलग होती हैं। पुरुष बेहद ही आसानी से चरम सुख को प्राप्त कर लेते हैं लेकिन महिलाओं के लिए यह थोड़ा मुश्किल भरा होता है। ज्यादा महिलाओं के संतुष्टि प्राप्त न करें के 5 मुख्य कारण होते है।

ऑक्सीटोसिन की कमी

यह एक तरह का हार्मोन होता है जो हार्मोन्स के स्तर को कम करता है। जिसकी वजह से महिलाएं ऑर्गेज्म तक आसानी से नहीं पहुंच पाती। एक्सपर्ट्स का कहना है इसे नियंत्रित करने के लिए महिलाओं को अपने पार्टनर्स के साथ ज्यादा से ज्यादा वक़्त प्यार भरी बातों के साथ बिताना चाहिए।

मास्टरबेशन से दूरी

अधिकतर पुरुष मास्टरबेशन करते हैं और महिलाएं इसे गलत समझती हैं। ऐसा नहीं है कि यह सिर्फ पुरुष ही करते हैं। कई महिलाएं भी मास्टरबेशन करती हैं। पर जो महिलाएं यह नहीं करती उन्हें ऑर्गेज्म तक पहुंचने में परेशानियों का सामना करना पड़ता है। एक शोध में खुलासा हुआ है कि मास्टरबेशन एक ऐसी प्रक्रिया है जो महिलाओं को संतुष्ट करती है। जो महिलाएं यह अपनाती हैं उन्हें सेक्स के दौरान ऑर्गेज्म आसानी से प्राप्त होता है और वे इसका आनंद उठा पाती हैं।

गर्भ निरोधक गोलियां

कई बार महिलाएं अनचाहे गर्भ से निजात पाने के लिए गर्भ निरोधक गोलियों का सेवन करती हैं। इन गोलियों की वजह से उनकी सेक्स ड्राइव काफी कम हो जाती है। इन दवाओं का आपकी सेक्स लाइफ पर बेहद ही नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इन दवाओं की वजह से महिलाएं ऑर्गेज्म तक नहीं पहुंत पाती। इस स्थिति से निबटने के लिए सेक्स थेरेपिस्ट महिलाओं को लुब्रिकेंट इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं।

डेस्क जॉब

जो महिलाएं घंटो तक एक ही जगह बैठकर काम करती हैं वे सेक्स का आनंद ठीक तरह से नहीं उठा पाती। एक शोध में खुलासा हुआ है कि ज्यादातर जॉब करने वाली महिलाओं के पेल्विक मसल्स शॉर्ट होने लगते हैं। इस वजह से उन्हें पेल्विक पेन होता है जो ऑर्गेज्म में अवरोध पैदा करता है। जो महिलाएं डेस्क जॉब करती हैं उन्हें काम के बीच में 2-3 मिनट का ब्रेक लेते रहना चाहिए।

ब्लैडर का फुल होना

ज्यादातर महिलाओं का ब्लैडर संभोग के दौरान भरा होता है जिससे उन्हें न तो सेक्स में मज़ा आता है और न ही वे ऑर्गेज्म तक पहुंच पाती हैं। इस बारे में एक्सपर्ट्स का कहना है कि संभोग से पहले महिलाओं को यूरीन पास कर लेना बेहद जरूरी है।

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.