यादगार बनानी है सुहागरात तो अपनाएं ये तरीके

0

फिल्मो और कहानियों में शादी की पहली रात मतलब की सुहागरात को बेहद ही बढ़ा-चढ़ा कर बताया जाता है। हालांकि सुहागरात गए रिश्ते की बेहद ही अहम रात मानी जाती है लेकिन हकीकत में यह उम्मीदों से परे होती है। सुहागरात को लेकर कई लोगों के मन में तरह-तरह के सवाल भी होते हैं। पहली रात सेक्स को लेकर इतनी बातें कहीं गई हैं जिनका वास्तविकता से कोई लेना-देना ही नहीं है। ऐसी गलत जानकारियां दोस्तों व समाज द्वारा दबाब में या फिर खुद ही कपल की धारणा से पनपती हैं। कई लोग इंटरनेट पर या फिर फिल्मों से प्रेरित होते हैं जिस वजह से उन्हें पहली रात के बारे में अधूरी और गलत जानकारी होती है। इसी वजह से आपको कुछ टिप्स सुझाए जा रहे हैं।

भारतीय परम्पराओं के अनुसार शादी बहुत ही भागदौड़ और तनाव वाली होती है। ऐसे में जोड़े को कुछ देर के लिए आराम करना चाहिए। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि रस्मों के बीच ही नवयुगल आराम फरमाने लगें। लेकिन जब सारे रीति-रिवाज पूर्ण हो जाएं तो थोड़ा रिलैक्स जरूर करना चाहिए। क्योंकि शारीरिक और मानसिक थकान की वजह से आप किसी भी चीज़ का मज़ा नहीं ले सकते।

अगर लव मैरिज है तो कोई बात नहीं लेकिन अरेंज मैरिज में लड़का और लड़की एक दूसरे को नजदीक से नहीं जान पाते। इसलिए यह कोशिश करनी चाहिए की पहली रात आप एक-दूसरे को अच्छी तरह से जाने। सुहागरात से पहले अगर यह संभव नहीं हो पाया है तो पहली रात इसी से शुरुआत करना कुछ गलत नहीं है।

आप अपनी पार्टनर से उसकी पसंद-नापसंद जान सकते हैं। अपनी पार्टनर से आप उसकी सेक्स संबंधी पसंद भी जरूर जाने। कई बार ऐसा भी हो सकता है कि लोगों को अपने साथी की बात पसंद या समझ ना आए लेकिन यह बात हमेशा ध्यान रखें की समय के साथ सब कुछ बदलता है।

यह पहला मौका होता है जब नवयुगल नजदीक से एक दूसरे को जानते हैं। इसलिए कभी भी अपनी इच्छा को अपने पार्टनर पर नहीं थोपना चाहिए। इस समय ऐसा करना बिल्कुल भी सही नहीं होगा। पर इसका मतलब यह नहीं है कि आप बेहद ही सोच-विचार में पड़ जाएं। क्योंकि ज्यादा सोचने से मजा खराब हो जाएगा और घबराहट भी बढ़ जाएगी। अपनी साथी से उसकी पसंद जाने और संभोग के बारे में उसके क्या विचार हैं यह जानकार ही आगे कदम बढ़ाएं।

यह आपका और आपके साथी का पहला अनुभव हो सकता है लेकिन यह आखिरी नहीं होगा। यह केवल नए रिश्ते की शुरुआत है। अगर आप उम्मीद के मुताबिक़ सम्भोग नहीं कर पाते तो इसमें निराश होने वाली कोई बात नहीं है। यह नाजुक रिश्ता होता है और समय के साथ ही इसमें मजबूती आती है।

अगर आप पहली रात अनुभव की कमी या फिर गलत जानकारी की वजह से उम्मीद के मुताबिक संतुष्ट नहीं हुए हैं तो इसमें कोई चिंता की बात नहीं है। आप किसी विशेषज्ञ से इस बारे में सलाह ले सकते हैं। सलाह लेने में जरा भी मत हिचकिचाइए। कई बार गलत जानकारी के आभाव में या फिर मेडिकल मजबूरी की वजह से ऐसा हो सकता है। इसलिए अगर आपको जरूरत लगे तो चिकित्सक का परामर्श जरूर लें।

Share.