website counter widget

उत्तेजना बढ़ने पर लड़कियों के ये अंग हो जाते हैं बेहद टाइट

0

इस बात से तो सभी भली भांति परिचित हैं कि सेक्स हर किसी की जरूरत और आवश्यकता होती है। फिर चाहे वह महिला हो या पुरुष। हर किसी को सेक्स की जरूरत महसूस होती है। लेकिन फर्स्ट टाइम सेक्स के दौरान लड़कियों को थोड़ा दर्द जरूर होता है क्योंकि उनकी वजाइना को इसकी आदत नहीं होती और उसके लचीलेपन में भी बदलाव शुरू हो जाता है।

हालांकि लड़कियों की वजाइना को पेनिट्रेशन का आदी होने में थोड़ा वक्‍त लगता है। लेकिन जब नियमित सेक्स किया जाता है तो फिर उनकी वजाइना को इसकी आदत हो जाती है। धीरे-धीरे समय के साथ-साथ सेक्‍स लाइफ मैच्‍योर होने लगती है और लड़कियों की वजाइना के लिए लिए यह सब सामान्य बात हो जाती है।

जब लड़कियां उत्तेजना में आती हैं और उनकी उत्तेजना काफी बढ़ जाती है तब उनकी वजाइना में स्थित क्लिटरिस और यूट्रस का आकर भी थोड़ा बढ़ जाता है। यह तब होता है जब कोई लड़की फर्स्ट टाइम सेक्स संबंध स्थापित करने के दौरान उत्तेजित होती है। हालांकि कुछ दिनों के बाद यह सब कुछ सामान्य हो जाता है।

लेकिन क्लिटरिस और यूट्रस हर बार उत्तेजना के दौरान बड़े हो जाते हैं। यूं कह सकते हैं कि जिस तरह पुरुष के पेनिस का आकर उत्तेजना बढ़ने पर बढ़ता है ठीक उसी तरह महिलाओं के क्लिटरिस और यूट्रस भी उत्तेजना में बड़ जाते हैं।

जब सेक्स पूरा हो जाता है तो पुरुष और महिलाओं दोनों के प्राइवेट पार्ट पहले की तरह सामान्य अवस्था में आ जाए हैं। इतना ही नहीं सेक्स के दौरान उत्तेजना बढ़ जाने पर महिलाओं के ब्रेस्‍ट के टिशू भी फूल जाते हैं। इस वजह से ही लड़कियों के स्तन सेक्स के दौरान काफी टाइट हो जाते हैं। यह सामान्य प्रक्रिया है।

जब भी कोई लड़की उत्तेजना से भर जाती है तो उसकी बॉडी में ब्‍लड सर्कुलेशन बढ़ जाता है। यह ब्‍लड सर्कुलेशन अधिकतर संवेदनशील अंगों में ज्यादा बढ़ता है। इसलिए सेक्स के दौरान लड़कियों के ब्रेस्ट व वजाइना का आकर बढ़ जाता है। हालांकि सेक्स के बाद यह सब फिर से सामान्य अवस्था में आ जाते हैं।

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.