सेक्स के सपने, कुछ कहते हैं आपसे

0

क्या आपने कभी सपने में सेक्स देखा है? अगर नहीं देखा तो अब देखने के लिए तैयार हो जाइए, क्योंकि हम कुछ ऐसी बात बताने जा रहे हैं, जिसे जानने के बाद आप भी सपने में सेक्स देखने के लिए उतावले हो जाएंगे। दरअसल आज की भाग-दौड़ भरी लाइफ में सभी को तनाव यानी टेंशन रहता है। किसी को ऑफिस के काम का टेंशन तो किसी को किए गए काम के परिणाम का टेंशन। किसी को प्रमोशन का टेंशन तो किसी को पगार न बढ़ने का टेंशन। यूं समझ लीजिए कि किसी का एक भी दिन बिना तनाव के नहीं गुजरता। ऑफिस से जब इंसान थका हारा घर पहुंचता है तो उसे सिर्फ एक ही चीज़ दिखती है, वो है बिस्तर। जी हां हर इंसान घर पहुंचते ही सुकून से सोना चाहता है, और मीठे-मीठे सपनो में खो जाना चाहता है ताकि उसे कुछ सुकून मिल सके।

Image result for sex dream

साल 2007 में यूनिवर्सिटी ऑफ मॉन्ट्रियल द्वारा एक अध्ययन किया गया था। इस अध्ययन में 8 फीसदी ऐसे महिला और पुरुष शामिल थे जिन्होंने केवल सेक्स संबंधी सपने ही देखे थे। इस बारे में मनोचिकित्सक और सेक्सोलॉजिस्ट डॉ पवन सोनार ने कहा कि, ऐसे सपने रैपिड आई मूवमेंट (REM) एक्टिविटी है जो कि अनैच्छिक होते है। लेकिन यह एक यौन गतिविधि की तरह होते हैं इसलिए ऐसे सपने देखने से इंसान को सुकून मिलता है। सेक्स सम्बंधित सपने देखने से इंसान की दिनभर की थकान और तनाव दूर हो जाता है और उसे सुख व आनंद प्राप्त होता है।

Related image

डॉ सोनार के अनुसार सेक्स संबंधित सपने तभी आते हैं जब आप या तो यौन रूप से वंचित होते हैं या फिर आपकी कामुक इच्छाएं दबी रह जाए। इस मामले में रिलेशनशिप काउंसलर और द गेम ऑफ चेंज की लेखिका गीता रामकृष्णन का कहना है कि, सपनों को हमारे अवचेतन दिमाग की उपज समझा जाता है। अप्रत्यक्ष रूप से तनाव और थकान से मुक्ति दिलाने के लिए सपने में सेक्स देखना जरूरी है। अगर आप ऐसा अनुभव करते हैं और ऐसे सपने देखते हैं तो इसमें को बुराई नहीं है। उन्होंने कहा कि सेक्स संबंधित सपने देखना आपको सुकून देता है और इसका सेक्स से कोई लेना-देना नहीं होता।

Image result for सपने में सेक्स देखना

सपने आने की वजह कुछ भी हो सकती है। लेकिन सपने अधिकांशतः आपकी अधूरी इच्छाओं और अनपेक्षित विचारों का रूप होती है और उसी को व्यक्त करती है। हालांकि यह हमारी अवचेतना का हिस्सा होते हैं। ऐसे सपने आने के पीछे कोई भी वजह हो सकती है जैसे शादी वाले रिश्तों में तनाव, ऑफिस की टेंशन, दिन भर की थकान। भावनाओं को जाहिर करना सबसे अच्छा माध्यम सपने ही होते हैं। डॉ सोनार का मानना है कि आप दिन भर जो विचार करते हैं या बार-बार यही सोचते हैं कि आपको सपने में क्या देखना है तो आपको वास्तव में वही सपने आते हैं।

डॉ सोनार का कहना है कि उन जोड़ों को सेक्स ड्रीम जरूर देखने चाहिए जिनके रिश्तों में मनमुटाव हो। या जो कपल इंटिमेसी इशूज़ का सामना कर रहे हों। क्योंकि सेक्स ड्रीम एक-दूसरे प्रति भावनाएं जागृत करता है और आप अपने साथी पर फोकस कर पाएंगे। अगर आप सेक्स संबंधी सपने देखना चाहते हैं तो डॉ. सोनार के अनुसार आपको नियमित व्यायाम जरूर करना चाहिए। इससे ऐसे सपने आने की संभावना काफी बढ़ जाती है। वहीं रामकृष्णन का मानना है कि यदि आप पेट के बल सोते हैं तो आपको सेक्स संबंधी सपने जरूर आते हैं। इसके अलावा वातावरण का भी इस पर असर होता है। इसलिए आपको हमेशा ही कम रौशनी में सोना चाहिए।

Share.