सेक्स के पहले जान लें लड़कियों के प्राइवेट पार्ट से जुड़ी कुछ बातें

0

सेक्स एक ऐसा विषय है जिस पर बात करना हमारे देश में वर्जित माना जाता है और लोग इस विषय पर बात करने से कतराते हैं। लेकिन फिर भी सेक्स को लेकर तरह-तरह की बातें और सवाल लोगों के मन में जरूर होते हैं। कई पुरुष और महिलाएं दोनों ही इस बात को जानने के लिए उत्सुक रहते हैं कि लंबे समय तक सेक्स संबंध स्थापित न करने या फिर सेक्स टॉय का इस्तेमाल न करने से महिलाओं की वैजाइना का आकर छोटा और टाइट हो जाता है?

आज हम आपको ऐसी ही कुछ बातों के बारे में बताने जा रहे हैं फिर वह इंटरकोर्स की हो, या पीरियड्स के दौरान टैंपॉन लगाने की। सेक्स टॉय का इस्तेमाल करने की हो या फिर चाइल्ड बर्थ से संबंधित। आज हम आपको इन सभी बातों के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं।

आपको बता दें कि किसी भी महिला के शरीर का सबसे ज्यादा लचीला पार्ट वैजाइना ही होता है। वैजाइना सभी प्रक्रिया के दौरान अपने आकर को बड़ा करने की क्षमता रखती है। ऐसा नहीं है कि इन प्रक्रिया के बाद उसका आकर बड़ा ही रह जाए। इन सभी प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद यह वापस अपने पुराने आकार में लौट आती है।

कई बार ऐसा वक़्त भी आता है जब महिलाओं की वैजाइना अपने आकर को प्राकृतिक तरीके से बड़ा कर लेती है और यह होता है सेक्स के दौरान, फॉरप्ले और एक्ससिटेमेंट की चरम सीमा पर पहुंचने पर।

जब महिलाएं सेक्स के दौरान फोरप्ले का आनंद उठाती हैं और उनकी उत्तेजना चरम पर पहुंच जाती है तब उनकी वैजाइना का ऊपरी हिस्सा कुछ लंबा और बड़ा हो जाता है। जिस तरह किसी पुरुष के पेनिस का आकर बढ़ता है ठीक उसी तरह से वैजाइना की डेप्थ भी बढ़ती है।

इसके बाद जब सेक्सुअल पेनिट्रेशन होता है तो इस दौरान भी वैजाइना की मसल्स फैलती और सिकुड़ती रहती हैं। वहीं कई महिलाओं और पुरुषों का मानना है कि सेक्स लाइफ में लंबा ब्रेक लिया जाए तो वैजाइना काफी टाइट हो जाती है। लेकिन असलियत में ऐसा कुछ भी नहीं है।

Share.