पहली बार पहनने जा रही हैं इनर तो इन बातों का रखें ध्यान

0

लड़कियां टीनएज में पहुंचने पर इनर पहनना शुरू कर देती हैं लेकिन उन्हें पहली बार इनर पहनते समय कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है। एक्सपर्ट बताते हैं कि टीनएज को अपने ब्रेस्ट का सही विकास करने के लिए सही नाप का इनर पहनना चाहिए। अगर टीनएज शुरुआत से ही सही नाप का इनर पहनती हैं तो उम्र बढ़ने पर उनके ब्रेस्ट ढीले और बेडौल नहीं होते। इसके अलावा उन्हें पीठ दर्द, मांसपेशियों में तनाव के अलावा सिरदर्द जैसी समस्या से भी छुटकारा मिलता है।

सेक्स के दौरान कभी भूलकर भी न करें ऐसीं हरकतें

विशेषज्ञों का मानना है कि पहली बार इनर पहनने वाली लड़कियां अक्सर ही फिटिंग को लेकर गलतियां कर बैठती हैं। सही फिटिंग के इनर न पहनने पर उनके ब्रेस्ट का सही से विकास नहीं हो पाता और उन्हें पीठ दर्द, मांसपेशियों में तनाव के अलावा सिरदर्द की शिकायत भी होने लगती है। विशेषज्ञ बताते हैं कि टीनएज में लड़कियों के शरीर में बड़ी तेजी से विकास होता है और उनके मसल्स बनने लगती हैं। उन्होंने बताया कि 10 से 12 साल की उम्र में लड़कियों के ब्रेस्ट में उभार आना शुरू हो जाता है। और उनके ब्रेस्ट में आने वाला उभार 18 वर्ष की आयु तक चलता है। स्त्री रोग विशेषज्ञ का कहना है कि जब लड़की 15 या 16 वर्ष की आयु में पहुंचती है तो उसके स्तनों को सहारे की जरूरत होती है। इसलिए लड़कियों को इस उम्र में बॉडी फिटिंग स्पैगिटी या हैंक टॉप जरूर पहनना चाहिए।

सेक्स में आ जाएगा नया रोमांच बस अपनाएं यह टिप्स

इसके बाद लड़कियों को धीरे-धीरे इसमें बदलाव कर स्पोटर्स इनर तक आना चाहिए। अगर लड़कियां इस तरह के इनर पहनती हैं तो यह उनके ब्रेस्ट के लिए सपोर्ट का काम करती हैं। इसके बाद उन्हें कॉटन या टी-शर्ट इनर पहनना शुरू कर देना चाहिए। लेकिन इन सभी के लिए लड़कियों को परफेक्ट नाम का ही इनर खरीदना चाहिए। एक दम टाइट इनर से उन्हें काफी परेशानी हो सकती है। विशेषज्ञ का कहना है कि लड़कियों को अक्सर सूती इनर पहनना चाहिए। इसमें पसीने को सोखने की क्षमता होती है। इसके लिए आप ऑनलाइन साइट्स से भी बेहतर लॉन्जरी खरीद सकती हैं।

हस्तमैथुन के लिए महिलाएं इन चीजों को करती हैं इस्तेमाल

Share.