हर महिलाएं जरूर जाने मास्टरबेशन के इन फायदों को

0

सेक्स को लेकर हमेशा ही यह समझा जाता है कि महिलाओं को सेक्स की इच्छा नहीं होती और न ही वे कभी लड़कों की तरह मास्टरबेशन का सहारा लेती है। लेकिन यह बात पूरी तरह से गलत है। दरअसल सेक्स और मास्टरबेशन को लेकर महिलाएं मर्दों से भी दो कदम आगे होती हैं। मास्टरबेशन खुद से प्यार जताने का एक तरीका होता है। मास्टरबेशन से न सिर्फ संतुष्टि प्राप्त होती है बल्कि यह आपको ख़ुशी भी देता है और आप अपने आपको बेहतर तरीके से समझ पाते हैं। मास्टरबेशन के कई फायदे भी होते हैं लेकिन फिर भी लोग इसे गलत मानते हैं। हालांकि इसके कुछ नकारात्मक प्रभाव भी होते हैं जो शरीर पर पड़ते हैं। तो चलिए जानते हैं की मास्टरबेशन के क्या प्रभाव शरीर पर पड़ते हैं।

सबसे पहले तो आपको बता दें कि मास्टरबेशन के कई तरह के फायदे होते हैं जैसे कि यह पेल्विक मसल्स को मजबूत बनता है। इस वजह से यूरिन कंट्रोल करने में काफी मदद मिलती है।

मास्टरबेशन के बाद बॉडी में फील-गुड हॉर्मोन्स का रिलीज होना शुरू हो जाता है जो दिमाग के हायपोथैलमस को ऐक्टिवेट करता है। इसी हार्मोन्स की वजह से ख़ुशी और संतुष्टि का अहसास होता है।

महिलाएं मास्टरबेशन करने से सर्वाइकल इन्फेक्शंस से बच सकती हैं। यह कोई मजाक नहीं है बल्कि एक शोध में पता चला है कि जब महिलाएं उत्तेजित होती हैं तो उनका सर्विक्स खिंचता जिस वजह से म्यूकस अंदर पहुंचता है। इस प्रक्रिया को टेंटिंग कहा जाता है। और इसी वजह से महिलाओं को सर्वाइकल इंफेक्शन नहीं होता।

जिन महिलाओं को अनिद्रा की समस्या होती है उन्हें मास्टरबेट जरूर करना चाहिए। क्योंकि मास्टरबेशन से दिन भर की थकान और टेंशन को प्राकृतिक रूप से दूर किया जा सकता है। इसकी मुख्य वजह है कि मास्टरबेशन के दौरान इन्डॉर्फिन्स नामक हार्मोन्स रिलीज होने लगता है जो आपके तनाव और दर्द को कम करने का काम करता है।

Share.