इस वजह से होता है महिलाओं को स्वप्नदोष

0

स्वप्न दोष की समस्या पुरषों में देखने को मिलती है और कई लोगों या फिर यूं कहें कि सभी लोगों को यही मानना है कि यह समस्या केवल पुरषों में ही होती है महिलाओं में नहीं। लेकिन यह बात एक शोध से गलत साबित हुई है। हाल ही में हुए एक शोध में यह सामने आया है कि महिलाओं(Facts About Women Wet Dreams) को भी पुरषों की तरह स्वप्नदोष की समस्या होती है। दरअसल रात में सोते समय रंगीन सपने देखने की वजह से ऑर्गेज्‍म का अनुभव होता है और इसी वजह से नींद में ही वीर्यपात(Wet Dreams) हो जाता है। इसे ही स्वप्नदोष कहा जाता है। महिलाएं भी सोते समय कई बार सेक्स के सपने देखती हैं और उनका ऑर्गेज्‍म हो जाता है। हालांकि यह कोई बीमारी नहीं है लेकिन कभी-कभी इस तरह की घटना से व्यक्ति परेशान हो जाता है। आइए जानते हैं कि महिलाओं को किस वजह से स्वप्नदोष होता है।

इस वजह से होता है महिलाओं को स्वप्नदोष

शोध के निष्कर्ष के अनुसार साल 1953 में डॉ अल्फ्रेड किंस्ले द्वारा तकरीबन 6 हजार महिलाओं पर एक रिसर्च की गई थी। इनमें से 37 प्रतिशत महिलाओं का मानना था कि उन्हें 45 वर्ष की आयु तक कम से कम एक बार स्वप्नदोष जरूर हुआ है।

पार्टनर के होश उड़ा देंगी महिलाओं की ये हरकतें

वहीं हाल ही में हुए शोध से यह खुलासा हुआ है कि जो महिलाएं सेक्स के दौरान पूर्ण रूप से संतुष्ट नहीं हो पातीं या जिन महिलाओं को सेक्स की चाह ज्यादा होती है उन्हें स्वप्नदोष(Facts About Women Wet Dreams) की समस्या ज्यादा होती है।

Private: इन तरीकों से सेक्स लाइफ में बढ़ाएं रोमांच

इस मामले सेक्स पर एक किताब ‘सेक्सप्लेनेशन्स’ लिखने वाली डॉ. बेली का कहना है कि, “नींद में हम हमारी भावनाओं पर नियंत्रण खो देते हैं जिस वजह से हमारी दबी हुई भावनाएं, चाहतें सांकेतिक तौर पर सामने उभर आती हैं। वहीं बेली ने यह भी कहा कि महिलाओं को असल सेक्स की अपेक्षा नींद में बेहद जल्द ऑर्गेज्‍म प्राप्त होता है और इसी वजह से वे स्वप्नदोष का शिकार हो जाती हैं।

Share.