दिल्ली की तरफ बढ़ता यमुना का खौफ

0

हरियाणा के हथिनी कुंड से लगातार छोड़ा जा रहा यमुना का पानी दिल्लीवासियों के लिए खतरा बनता जा रहा है| दिल्ली में यमुना का जलस्तर लगातार बढ़ते जा रहा है| यमुना का खादर क्षेत्र जलमग्न हो चुका है, वहीं मंगलवार सुबह खतरे के स्तर को पार कर चुकी यमुना का जलस्तर 206 मीटर पर पहुंच गया, जो अभी भी बढ़ते ही जा रहा है| यह भी कहा जा रहा है कि यदि बारिश नहीं हुई तो जलस्तर नीचे गिर सकता है|

यमुना के खादर का जलस्तर बढ़ने के कारण लगभग 10 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है| आज हथिनी कुंड से 24,992 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है| इसके पहले भी लगभग 6 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया था| हथिनी कुंड से पानी छोड़ने के फ्लो में पहले की तुलना में अब कमी आई है| यदि यमुना का जलस्तर लगातार बढ़ता रहा तो राहत एवं बचाव कार्य के लिए सेना की मदद भी ली जा सकती है|

जलस्तर बढ़ने के कारण यमुना पर बने ब्रिज पर आवाजाही पर रोक लगा दी गई है| सड़क मार्ग के साथ ही रेलमार्ग भी बंद कर दिया गया था, लेकिन सोमवार को विशेष सुरक्षा अधिकारियों की निगरानी में पुल को रेल सेवाओं के लिए फिर से खोल दिया गया| उत्तर रेलवे (एनआर) के प्रवक्ता नितिन चौधरी ने बताया कि रेल यातायात बहाल कर दिया गया है क्योंकि अब ट्रेनों के लिए मार्ग सुरक्षित है|  उन्होंने कहा कि इंजीनियर पुल की स्थिति पर लगातार नजर रखे हुए हैं|

यमुना के जलस्तर में तेजी को देखते हुए बाढ़ की आशंका तेज हो गई है| दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, “मंत्रालय प्रभारी कैलाश गहलोत को सभी अधिकारियों के साथ व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है|” उन्होंने ट्वीट में एक न्यूज रिपोर्ट भी पोस्ट की, जिसमें लोगों की दिल्ली सरकार से किसी तरह के इंतजाम न करने की शिकायत का जिक्र था| दिल्ली के सीएम के ट्वीट के बाद परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत  ने जवाब दिया, “सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के लिए सुबह 9.30 बजे विभागीय आयुक्त और अन्य अधिकारियों के साथ इस क्षेत्र का दौरा करूंगा|”

दिल्ली: खतरे के निशान से ऊपर पहुंची यमुना

यमुना एक्सप्रेस-वे पर हादसा दर्जनों वाहन भिड़े

दिल्ली में बाढ़ का खतरा, क्या मचेगी तबाही?

Share.