दिल्ली: खतरे के निशान से ऊपर पहुंची यमुना

0

यमुना का जलस्तर खतरे के निशान के ऊपर पहुंच गया, जिसके बाद दिल्ली निवासियों के मन में डर लगातार बढ़ रहा है| अधिकारियों के अनुसार, शनिवार को यमुना के जलस्तर में और इजाफा हो सकता है, जो शुक्रवार को 204.1 मीटर पर बह रहा है| युमना में खतरे का निशान 204 मीटर है| दरअसल, हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से लगातार पानी छोड़े जाने के बाद बाढ़ का खतरा बढ़ रहा है|

केंद्रीय जल आयोग के अनुसार यमुना का जलस्तर शनिवार को रात 9 बजे से 11 बजे के बीच दिल्ली रेलवे ब्रिज पर 204.5 मीटर के स्तर तक पहुंच सकता है| किसी भी स्थिति से निपटने के लिए नदी किनारे तमाम नावों को तैनात किया गया है, साथ ही ‘दर्जनों क्विक रिस्पॉन्स’ टीमों को भी तैनात किया गया है| तीन दिन से लगातार हो रही बारिश से यमुना उफान पर है| हथिनीकुंड बैराज पर यमुना नदी में पानी तीन लाख क्यूसेक से ऊपर हो चुका है, जो दो दिन बाद दिल्ली पहुंचने पर तबाही मचा सकता है|

दिल्ली सरकार के सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग ने यमुना के आसपास रह रहे 100 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की तैयारी कर ली है| एडीएम अजय कुमार का कहना है कि करीब 3 से 4 वोट यमुना में उतारे गए हैं और यमुना के किनारे रहने वाले किसान और झुग्गी-झोपड़ियों को खाली करने की चेतावनी दी जा रही है|

यमुना में अचानक आए इतने पानी का दबाव छोटी नहरें सहन नहीं कर पातीं, लिहाजा सभी नहरें बंद कर यह पानी यमुना में छोड़ दिया गया| हरियाणा के हथिनी कुंज बैराज से लगातार काफी मात्रा में पानी छोड़े जाने के कारण दिल्ली में भी यमुना का जलस्तर चेतावनी स्तर को शुक्रवार को ही पार कर गया था| गौरतलब है कि पिछले कई वर्षों में कई बार यमुना खतरे के निशान को पार कर चुकी है| इसके पहले वर्ष 2013 में यमुना का पानी खतरे के निशान से ऊपर पहुंचा था|

Share.