पाकिस्तान को युद्ध के लिए तैयार कर रहा तुर्की

0

इस्लामाबाद: कश्मीर मुद्दे पर दुनिया से अलग-थलग पड़े पाकिस्तान (Pakistan) को एकमात्र देश तुर्की (Turkey)का कन्धा मिला है. उसके दर्द को समझने के लिए, संयुक्त राष्ट्र महसभा (United Nations General Assembly)  में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की हेट स्पीच का एक मात्र देश तुर्की ने समर्थन किया था. तुर्की के राष्ट्रपति तयीप एर्दोगन ने संयुक्त राष्ट्र महासभा की सालाना बैठक में कश्मीर मुद्दे को वैसे ही उठाया जैसे पाकिस्तान चाहता है। यूएन में पाकिस्तान के सुर से सुर मिलाने वाला तुर्की अब उसके लिए जंगी जहाज(warship)  बना रहा है। इस युद्धपोत निर्माण के साथ वह पाकिस्तान को युद्ध के लिए तैयार कर रहा है। पाकिस्तानी नौसेना ने तुर्की से मिलगेम वर्ग के चार युद्धपोत की खरीदारी के लिए जुलाई 2018 में एक करार किया था

जानकारी के अनुसार तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोग़ान ने रविवार को एक कार्यक्रम में ये घोषणा की. खबर में तुर्की के राष्ट्रपति के हवाले से कहा गया है, ‘मैं आशा करता हूं कि तुर्की द्वारा मुहैया कराए जा रहे इस जंगी जहाज से पाकिस्तान को फायदा होगा.’ और साथ ही एर्दोग़ान के मुताबिक तुर्की दुनिया के उन 10 देशों में शामिल है जो राष्ट्रीय क्षमता का उपयोग कर युद्धपोत का निर्माण, डिजाइन और रख-रखाव कर सकते हैं.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की बातो को दोहराते हुए नेवी के एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि दुनिया को कश्मीर में लोगों की पीड़ाओं के बारे में पता होना चाहिए। उन्होंने कश्मीर की स्थिति की तुलना फिलिस्तीन से भी कर डाली। और कहा अगर जरुरत पड़ी तो आगे भी कश्मीर का मुद्दा उठाएंगे। पाकिस्तान के गहरे दोस्त चीन ने भी कश्मीर मुद्दे पर उसका साथ नहीं दिया था। लेकिन चीन की कमी तुर्की और मलेशिया आजकल बखूबी पूरी कर रहे है।

 

-Mradul tripathi

Share.