website counter widget

Haj Yatra 2019 : टूर ऑपरेटर्स ऐसे ठगते हैं हज यात्रियों को

0

हर मुस्लिम के लिए हजयात्रा (Haj Yatra 2019) सबसे पाक सफ़र होता है| इस्लाम के मुताबिक, हर मुसलमान को ज़िंदगी में एक बार हज ज़रूर करना चाहिए इसीलिए हर साल सऊदी अरब के मक्का में दुनियाभर के लाखों मुसलमान हज के लिए पहुंचते हैं| जिस तरह हिंदुओं के लिए तीर्थयात्रा ज़रूरी है, वैसे ही मुस्लिमों के लिए हज | इन दिनों ख़बर आ रही है कि हजयात्रियों को ठगा (Tour operators such as thugs Haj pilgrims) जा रहा है|

‘गार्डन सिटी’ Silvassa का टूर

दरअसल, हज यात्रा 2019 के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं| जगह-जगह कैम्प लगाकर हजयात्रियों ( Haj Yatra 2019) को ट्रेनिंग दी जा रही है| यात्रा के संबंध में जागरूक भी किया जा रहा है| प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स के ग्रुप में जाने वाले यात्रियों को खास दिशा-निर्देश दिए जा रहे हैं परन्तु देखने में आ रहा है कि प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स के ग्रुप में जाने वाले यात्रियों के साथ कई तरह की धोखाधड़ी होती है|

दिल्ली निवासी मौलाना हाजी यासीन बताते हैं कि जब कोई प्राइवेट कोटे में टूर ऑपरेटर्स की मदद से हज यात्रा पर जाता है तो उन्हें सुख-सुविधाओं वाली कैटेगरी बताई कुछ और दी जाती और कुछ है| हज के दौरान कार की सुविधा बताने के बाद उन्हें बस में बैठाया जाता है|

900 वर्ष पुराने इस गणेश मंदिर में होती है हर इच्छा पूरी

इतना ही नहीं अच्छे होटल में ठहराने की बात कहकर चालू और बजट होटल में ठहराया जाता है| खाने की क्वालिटी में भी कोताही बरती जाती है| यहां तक कि टूर ऑपरेटर्स ( Haj Yatra 2019) प्राइवेट कोटे में वेटिंग और सीट खत्म होने की बात कहकर ज्यादा पैसे वसूलते हैं| कई बार इसकी शिकायत अल्पसंख्यक मंत्रालय और ट्विट के जरिये पीएम ऑफिस से भी की गई है|

हज कमेटी ऑफ इंडिया और सऊदी अरब की हुकूमत के अनुसार इस साल देश से 1,75,025 हज यात्री हज करने जाएंगे| इसमे हज कमेटी ऑफ इंडिया 1,25,025 हज यात्रियों को अरब भेजेगी| जबकि वर्ष 2018 में हज कमेटी ने 1,28,700 लोगों को हज करने भेजा था| पिछले वर्ष प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स (Tour operators such as thugs Haj pilgrims) के जरिये 46325 हज यात्री अरब गए थे, जबकि इस साल 50 हजार हज यात्री प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स के जरिये जाएंगे|

हज यात्रियों ( Haj Yatra 2019) को धोखाधड़ी से बचाने के लिए केंद्र सरकार ने भी कड़े कदम उठाए हैं| अल्पसंख्यक मंत्रालय  ने प्राइवेट टूर ऑपरेटर्स का रजिस्ट्रेशन करने से पहले उनकी जांच कराई है| मंत्रालय में आने वाली कई शिकायतों को भी ध्यान में रखा था| अल्पसंख्यक कार्यमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी भी हज यात्रियों के साथ होने वाली धोखाधड़ी को लेकर सख्त थे|

IRCTC दे रहा है राजस्‍थान घूमने का ऑफर

इसी के चलते हज यात्रा 2019 के लिए देशभर के 97 ऐसे टूर ऑपरेटर्स हैं जिन्हें ग्रुप में हज यात्रियों को हज यात्रा पर ले जाने के लिए योग्य नहीं माना गया है| उन्हें लिस्ट में शामिल नहीं किया गया है| कुल 807 टूर ऑपरेटर्स ने रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन किया था| वहीं 50 से अधिक ऐसे भी ऑपरेटर्स हैं जिन्हें शर्तों के साथ हज यात्रियों का ग्रुप ले जाने की इजाज़त दी गई है|

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.